उपायुक्त ने 25 क्षेत्रों को किया कंटेनमेंट जोन से डिनोटिफाई|
July 14th, 2020 | Post by :- | 36 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 14 जुलाई :- उपायुक्त नरेश नरवाल ने जिला के उपमंडल होडल, हथीन व पलवल के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों को जिला कंटेनमेंट प्लान (स्वास्थ्य विभाग) के अंतर्गत संबंधित क्षेत्रों में 21 दिन के फॉलोअप के दौरान कोविड-19 का कोई नया केस नहीं मिलने के कारण जिला प्रशासन ने इन 25 क्षेत्रों को कंटेनमेंट प्लान से डिनोटिफाई कर दिया। इनमें नगर परिषद पलवल के 12 व होडल नगर परिषद के 04 क्षेत्र तथा पलवल,होडल व हथीन के 09 ग्रामीण क्षेत्र शामिल है।
इन शहरी क्षेत्रों को किया गया है कंटेनमेंट जोन से डिनोटिफाई
नगर परिषद पलवल के 12 क्षेत्रों को होडल नगर परिषद के 04 क्षेत्रों को डिनोटिफाई किया है। इनमें पलवल के आर्य नगर,कालड़ा कालोनी, ओमैक्स सिटी फेस-2,पंचवटी कॉलोनी, बाली नगर नजदीक हरियाणा पब्लिक स्कूल, न्यू कालोनी, कुंज बिहारी कालोनी नजदीक सिंगला पट्रोल पम्प असावटा मोड़, कैलाश नगर नजदीक अलावलपुर फ्लाई ओवर, सदर थाना पलवल के पास, मालगोदाम रोड़ शमशान घाट के पीछे दया कालोनी,जहाबर नगर नजदीक त्रिपाठी लैम्प एण्ड लाइट, राधा कालोनी नजदीक आईटीआई पलवल तथा होडल नगर परिषद क्षेत्र के ताली मोहल्ला, नानक डेयरी रोड चरण सिंह चौक, अग्रसेन कालोनी नजदीक बंसल नर्सिंग होम, बिन्दा पैलेस नजदीक भारत गैस एजैंसी बाबरी मोड़ होडल को उपायुक्त ने कंटेनमेंट जोन से डिनोटिफाई करने के आदेश जारी किए है।
इन 09 ग्रामीण क्षेत्रों को किया गया है कंटेनमेंट जोन से डिनोटिफाई
पलवल ब्लाक के गांव कुशलीपुर, नजदीक ब्राहम्ण चौपाल चिरावटा, छज्जूनगर,मांदकोल नजदीक ककड़ीपुर मांदकोल रोड़ पलवल , खण्ड होडल के गांव सतुआगढी नजदीक राजकीय प्राथमिक पाठशाला व गांव खटैला गली नं.-3,गांव सौंध नजदीक राजकीय विद्यालय तथा  खण्ड हथीन के गांव गहलब व श्यारोली को उपायुक्त ने कंटेनमेंट जोन से डिनोटिफाई करने के आदेश जारी किए है। इन क्षेत्रों में बीते 21 दिन से कोविड-19 संक्रमण का कोई केस नहीं आया है। जिला कंटेनमेंट प्लान (स्वास्थ्य विभाग) के तहत इन क्षेत्रों में 21 दिन के फॉलोअप के दौरान कोई नया केस भी नहीं मिला। जिसके चलते जिला प्रशासन ने संबंधित क्षेत्र को कंटेनमेंट प्लान से डिनोटिफाई कर दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।