स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा है पवित्र धाम मथुरा और वृन्दावन,पं:श्रीकांत शर्मा
July 14th, 2020 | Post by :- | 34 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता)ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पंडित श्रीकान्त शर्मा ने सोमवार को मथुरा-वृंदावन में सड़क, नाली, सार्वजनिक शौचालय, स्ट्रीट लाइट और पेयजल की 83.51 करोड़ की 81 परियोजनाओं के तहत हुए विकास कार्यों के वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम में हिस्सा लिया। यह कार्य नगर निगम, जल निगम और जिला नगरीय विकास अभिकरण के तहत हुए हैं। ऊर्जा मंत्री ने कहा की राज्य की स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहे मथुरा वृंदावन को विश्वस्तरीय शहर बनाएंगे।

स्मार्ट सिटी के रूप में वृन्दावन को तो विकसित किया ही जा रहा है, मथुरा के होलीगेट से चौकबाजार-घीया मंडी-मसानी को भी इस योजना में शामिल किया जाएगा।

कलेक्ट्रेट से टैंक चौराहा – भूतेश्वर- मसानी-कृष्णा नगर मार्केट तक सड़कों के नवीनीकरण और डिवाइडर के सौंदर्यीकरण के लिये 14 करोड़ रुपये PWD खर्च करेगा। इसे स्वीकृति मिल गयी है। शहर में नगर निगम 40 पार्क भी विकसित करेगा।

वृंदावन की 45 गलियों के विकास व सौंदर्यीकरण का कार्य होगा।वृंदावन की 22 कुंज गलियों के विकास और सौंदर्यीकरण का कार्य चल रहा है। इसमें 23 अन्य गलियां शामिल की गई हैं।

विश्व बैंक की प्रो पुअर पर्यटन योजना के तहत 22 गलियों में 38 करोड़ रुपये की लागत से चल रहा प्रमुख गलियों का कार्य मंदिर खुलने के पहले पूरा हो जाएगा।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने के संकल्प की दिशा में मथुरा-वृन्दावन को दिसम्बर 2019 से 25 MLD गंगा जल मिलना शुरू हुआ। इससे अब 46000 परिवारों तक पेयजल आपूर्ति शुरू हो रही है। पुराने मथुरा में भी गंगाजल आपूर्ति का प्लान तैयार हो गया है।

मथुरा-वृंदावन में खारे पानी से निजात के लिये स्वच्छ गंगाजल आपूर्ति पर तेजी से कार्य चल रहा है। पहले फेज में वर्ष 2021 तक 176 किमी गंगा जल आपूर्ति का पाइपलाइन नेटवर्क तैयार हो रहा है। कुल 950 किमी का पाइपलाइन नेटवर्क तैयार होना है।

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नदियों की निर्मलता के संकल्प की दिशा में यमुना में गिरने वाले 20 गंदे नालों को बंद किया जा रहा है। मसानी STP व ट्रांस यमुना TTRO प्लांट की 480 करोड़ की लागत से 50 MLD क्षमता बढ़ाई जा रही है। यह कार्य मार्च 2021 में पूरा हो जाएगा।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि स्कूलों में छात्रों को शुद्ध पेयजल देने के लिये विधायक निधि से RO प्लांट लगवाये जा रहे हैं। 183 स्कूलों व कॉलेजों में लगने वाले 120 प्लांट में से 94 लग चुके हैं और अन्य 17 प्लांट्स का काम जल्द पूरा हो जाएगा।

जलभराव हाईवे से सटी कच्ची कॉलोनियों और ग्रामीण इलाकों की बड़ी समस्या है। इसके लिये नालों का काम , बने हुए नालों को कवर करना, सीवर का काम और कॉलोनियों में सड़क निर्माण के कार्य चल रहे हैं।

लक्ष्मी नगर से नगला कोल्हू और धौली प्याऊ से हनुमान मंदिर इन दोनों नालों का कार्य जल्द पूरा होगा। बिरजापुर से टैकमेन सिटी, पाली खेड़ा से नरसी विहार और एटीवी फैक्टरी से महौली चौराहे इन तीनों आरसीसी नालों का कार्य भी तेजी से किया जाएगा।
हाइवे से सटी 350 कॉलोनियों में पक्की सड़कों और नालियों के निर्माण का काम भी लगातार चलेगा। शहर में चल रहे सीवर लाइन के कार्य को भी इस साल दिसंबर तक पूरा करना है।

वृंदावन में निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए परिक्रमा मार्ग पर सब स्टेशन का निर्माण होगा। पागल बाबा सब स्टेशन से पूरे क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति होने से इसमें कभी कभी समस्या आ रही है।

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री ने महापौर श्री मुकेश आर्यबन्धु, सभी पार्षदों , महानगर अध्यक्ष श्री विनोद अग्रवाल और नगर निगम, उ प्र जल निगम व डूडा के अधिकारियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि हम सबको मिलकर मथुरा-वृंदावन को स्वच्छ और सुविधायुक्त बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहना है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।