जंडियाला गुरु की।अनाज मंडी में किसान मजदूर सँगर्ष कमेटी तीन ऑर्डिनेंस को रद्द कराने कर लिए विशाल रोष प्रदर्शन किया ।
July 13th, 2020 | Post by :- | 149 Views

हज़ारों किसानों ,मजदूरों ,औरतों द्वारा कृषि सुधार के नाम पर किये गए तीन ऑर्डिनेंस व बिजली सोध बिल 2020 के विरोध में अनाज मंडी जंडियाला गुरु में विशाल प्रदर्शन किया।
21 जुलाई को एम पी गुरजीत सिंह औजला के घर का करेंगे घेराव ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
केंद्र सरकार द्वारा विशव व्यापार संस्था के दबाव के आगे घुटने टेक कर तीन ऑर्डिनेंस और बिजली सोध बिल 2020 द्वारा संघीय ढांचे को खत्म करना और कृषि मंडी को बड़े कॉरपोरेट घरानों के हवाले करने के विरोध पर देश विरोधी फैसले खिलाफ आज हज़ारो किसानों मजदूरों ,औरतों द्वारा जंडियाला गुरु की अनाज मंडी में विशाल एकत्र कर शक्ति प्रदर्शन किया। विशाल एकत्र की अध्यक्षता जिला प्रधान लखविंदर सिंह वरियाम नंगल ,जर्मनजीत सिंह बंडाला ,रणजीत सिंह कलेरबाला ,अमरदीप।सिंह गोपी ,लखविंदर सिंह डाला ,पर आधारित अध्यक्षता मंडल ने की ।इकट्ठ द्वारा जयकारों की गूंज में मता पास कर इंकलाब कवि वरवरा राव ,साई बाबा ,गौतम नवलखा ,तेल तुंबड़े ,सुधा पासकर व अन्य के बारे में बुद्धिजीवी लेखकों के बारे में देश धरोही के मामले दर्ज कर जेल भेजने के मामले में केंद्र सरकार की कड़ी निंदा की गई ।पंजाब में किसान मज़दूर जत्थेबंदी द्वारा लगातार किए गए छठे एकत्र को संबोधित करते हुए राज्य प्रधान सतनाम सिंह पन्नू ,महासचिव सरवन सिंह पंधेर ,और गुरबचन सिंह चब्बा ने घोषणा की कि 21 जुलाई को केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और सोम प्रकाश समेत पंजाब के एम पी के घरों का घेराव किया जाएगा ।अमृतसर में हज़ारों किसान मज़दूर और औरतें एम पी गुरजीत सिंह औजला के घर आगे धरना प्रदर्शन करेंगे ।किसान नेताओ ने कहा कि मोदी सरकार कोविड 19 को कॉरपोरेट जगत के हक़ में भुगताने के लिए कृषि समेत हर तरह के जनतक अदारों को पूरी तरह निजजीकर्ण किया जा रहा है।
अमेरिका की कंपनी एक्स फेम की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले 6 माह में पूरे विशव में 12 हज़ार लोग भुखमरी से मरेंगे और 12 करोड़ लोगों की इसकी चपेट में आने की संभावना है जो कि क्रोना म्हांमारी से भी बड़ी भूखमरी म्हांमारी होगी ।पर केंद्र सरकार व्यापार के लिहाज से सबसे महत्वपूर्ण कृषि कारोबार को कॉरपोरेट के हवाले करने के लिए राज्यो के अधिकार क्षेत्र के सबजेक्ट कृषि और बिजली पर हल्ला बोलकर केन्द्रीयकर्ण कर रही है। ऐसा कर यह सरकार देश के लोगों के साथ देश धरोह कर रही है ।
इसके इलावा किसान नेताओ ने कहा कि पंजाब की क्षेत्रीय पार्टी अकाली दल भी राजनीतिक मजबूरी के चलते केंद्र सरकार के आगे घुटने टेक गई है ।
उक्त तीनों ऑर्डिनेंस और बिजली सोध बिल 2020 द्वारा किसानों को तबाह कर बड़े कॉरपोरेट घरानों पर रहम करेंगे,जिससे 500 एकड़ और 1000 एकड़ कृषि फॉर्म आएंगे ।इसके चलते किसान नेताओ द्वारा पंजाब के लोगों को तीखे सँघर्ष में शामिल होने का न्योता देते हुए जोरदार मांग की है कि स्वामीनाथन की रिपोर्ट को लागू करना ,बिजली सोध बिल 2020 रद्द करना ,किसान ,मजदूरों के ऋण को खत्म करना ,इंतकाल फ़ीस में कई गई बढ़ोतरी वापिस लेना,पंजाब सरकार द्वारा मानी गई मांगो को तुरंत लागू करना ,और रेलवे व पंजाब पुलिस द्वारा दर्ज किए गए मामलों को रद्द करने की मांग की गई ।इस मौके पर अजीत सिंह ठठिया ,चरण सिंह कलेर घुमार ,हरबिंदर सिंह भलाईपुर ,सविंदर सिंह रूपोवाली ,मुख्तार सिंह भंगवां ,गुरदेव सिंह गगगोमहल ,कुलवंत सिंह कक्कड़ ,सकत्तर सिंह ,राज सिंह ताजेचकक, गुरदेव सिंह वरपाल ,बीबी जगीर कौर कलेर ने भी संबोधित किया ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।