अब नारनौल से दादरी चार मार्गीय सड़क बनाने का काम राज्य सरकार करेगी
July 12th, 2020 | Post by :- | 41 Views

नांगल चौधरी। (वीरेंद्र सिंह जाजम)   :                राष्ट्रीय राजमार्ग 148-बी का नारनौल-महेंद्रगढ़-दादरी तक का हिस्सा अब स्टेट हाईवे हो गया है। अब इस हिस्से को राज्य सरकार चार मार्गीय बनाएगी। उपायुक्त आरके सिंह ने आज इस सड़क का निरीक्षण करने के बाद लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सड़क) के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा को पत्र लिखकर इसके लिए फंड की मांग की है।

उपायुक्त की तरफ से निवेदन किया गया है कि नारनौल-महेंद्रगढ़-दादरी सड़क मार्ग का यह हिस्सा राष्ट्रीय राजमार्ग 148-बी के तहत आता था। जिसे अब 18 जून को डिनोटिफाई करके राष्ट्रीय राजमार्ग की जगह स्टेट हाईवे बनाया गया है।

उन्होंने बताया कि यह कई जिलों का बहुत ही महत्वपूर्ण मार्ग है। कई दिनों से इसकी रिपेयरिंग ना होने के कारण सड़क की हालत कई जगह बहुत ही खराब है। ऐसे में इस मार्ग को जल्द से जल्द चार मार्गीय बनाने का काम शुरू किया जाए।

डीसी ने बताया कि वर्ष 2012 में राय मलिकपुर से नांगल चौधरी-नारनौल-दादरी-भिवानी होते हुए खरक तक कॉरिडोर बनाने का काम शुरू हुआ होना था लेकिन एग्रीमेंट रद्द होने के कारण यह काम शुरू नहीं हो पाया।

बाद में इस सड़क मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग 148-बी बना दिया गया था। राष्ट्रीय हाईवे विभाग द्वारा इस राष्ट्रीय राजमार्ग को बनाने के लिए पांच पैकेज में कार्य अलर्ट किया गया था। इसमें से दादरी से भिवानी और भिवानी से खरक तक का कार्य पूरा कर लिया गया है जबकि कोटपूतली से नारनौल बाईपास तक का शेष कार्य 6 लाइन का शुरू हो चुका है। यह बीच का सड़क मार्ग नारनौल से दादरी तक शेष बचा हुआ है। अब इसे सरकार ने डिनोटिफाई करके स्टेट हाईवे बनाया है। ऐसे में इस सड़क मार्ग को तुरंत बनवाने की जरूरत है।

डीसी ने इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव से निवेदन किया है कि लोगों की परेशानी को देखते हुए इस पर जल्द से जल्द काम शुरू किया जाए।

आज इस स्टेट हाईवे के निरीक्षण के दौरान उनके साथ बी एंड आर विभाग के एक्सईएन सज्जन कुमार भी मौजूद थे।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।