मथुरा पहली ही बारिश ने खोली नगर निगम प्रशासन की पोल
July 9th, 2020 | Post by :- | 36 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता)  मानसून की पहली बारिश ने खोली नगर निगम के दावों की पोल, जलमग्न हुआ मथुरा शहर, पूरे मथुरा शहर में चारों तरफ भरा पानी, मथुरा शहर के बस स्टैंड भूतेश्वर तिराहा पुराने बस स्टैंड पर पुलों के नीचे पानी भर गया, जिससे आवागमन पूरी तरह बंद हो गया,
आपको बता दें कि बुधवार को मानसून की पहली बारिश हुई जिसने की मथुरा नगर निगम के सभी दावों की पोल खोल करके रख दी, मथुरा नगर निगम स्वच्छता के लाखों दावे करती है और वही लाखों रुपए हर महीने नालों की सफाई के लिए नगर निगम द्वारा खर्च किए जाते हैं, लेकिन आज मानसून की पहली बारिश नगर निगम के यह सभी दावे खोखले साबित हुए, क्योंकि एक महज 1 घंटे की बारिश से ही पूरे मथुरा शहर में चारों तरफ पानी भर गया, जिससे कि मथुरा शहर का आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया, नगर निगम द्वारा नालों की सफाई व्यवस्था सुचारू रूप से नहीं कराई जाती है, जिससे कि नाले चोक हो गए, और नाले चोक होने के कारण बारिश का पानी ओवरफ्लो होकर सड़को पर बहता नजर आया, मथुरा शहर के नए बस स्टैंड, पुराना बस स्टैंड, भूतेश्वर तिराहे पर पुलों के नीचे पानी भर गया जिससे कि आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया, उसमें से कुछ जरूरतमंद लोगों ने जब निकलने की कोशिश की तो उनकी बाइक गाड़ियां पूरी तरह से पानी में डूबती नजर आई और पानी से गुजरने वाली सभी बाइक और गाड़ियां खराब होकर बंद हो गई, जिससे कि सभी व्यक्ति परेशान नजर आ रहे थे, ऐसी स्थिति में भी नगर निगम प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है, सभी जगह पानी भरे होने के बावजूद भी लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर पुलों के नीचे पानी भरने के बाद रेलवे के पुल के ऊपर से ट्रेनों के सामने से गुजरने को मजबूर हो गए, लोगों ने अपनी जान की परवाह ना करते हुए ट्रेनों के आगे से गुजर रहे थे, पानी में फंसे हुए कुछ लोगों से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि हर साल मथुरा में यही स्थिति रहती है,इस तरफ नगर निगम प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है, नगर निगम लाखों दावे करता है कि सफाई व्यवस्था बहुत अच्छी चल रही है, लाखों करोड़ों रुपए सफाई के नाम पर खर्च भी किए जाते हैं, लेकिन जब भी बारिश होती है तो मथुरा शहर का यही आलम सामने आता है, चारों तरफ पानी भर जाता है, आवागमन पूरी तरह से बाधित हो जाता है, कोई भी व्यक्ति बारिश के बाद कहीं भी आ जा नहीं सकता है, ऐसे में यह प्रश्न उठता है कि यह पैसे कहां खर्च किए जाते हैं और नगर निगम किस तरह की सफाई व्यवस्था शहर में करवाता है, बारिश बंद होने के बाद भी नगर निगम प्रशासन द्वारा जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की गई जिससे कि सभी लोग परेशान दिखाई दिए, ऐसे में कुछ ऐसे दृश्य भी नजर आए जहां पर आपातकालीन सेवाएं जैसे कि पुलिस 112 की गाड़ियां जो कि अपने घटनास्थल की तरफ जा रही थी वह सभी भी जलभराव होने के कारण निकल नहीं पाए और वापस लौट गई, वहीं कुछ लोग दूसरे रास्ते से रेलवे ट्रैक के ऊपर होकर निकलने का प्रयास कर रहे थे, और पास में बने नाले को पार करते समय नाले में गिरते हुए नजर आए,

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।