कुरुक्षेत्र पुलिस ने छेडछाड का झूठा मामला दर्ज करवाकर पैसे लेकर समझौता करवाने के आरोप में महिला एएसआई सहित दो महिलाओं को किया गिरफतार ।
July 9th, 2020 | Post by :- | 129 Views

कुरुक्षेत्र ।  जिला पुलिस कुरूक्षेत्र ने छेडछाड का झूठा मामला दर्ज करवाकर पैसे लेकर समझौता करवाने के आरोप में महिला एएसआई सहित किया दो महिलाओं को गिरफतार।

यह जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक कुरूक्षेत्र श्रीमति आस्था मोदी ने बताया कि गत दिवस तरूण पुत्र जयसिंह वासी गांव काछवा जिला करनाल ने पुलिस अधीक्षक कुरूक्षेत्र को दी अपनी शिकायत में बताया था कि उनकी पाल नगर काछवा रोड पर टाईल सिमेंट की एक दुकान है। उसके पिता जयसिंह के खिलाफ बाला देवी पत्नी बलबीर सिंह वासी पटियाला बैंक कालोनी कुरूक्षेत्र ने छेडखानी करने का एक मामला दर्ज करवाया हुआ है। जिसके सम्बंध मे बाला देवी उनसे पैसे लेकर मुकदमा में समझौता करने का दबाव बना रही है। यह मुकदमा बाला देवी ने पैसे ऐठने की नियत से झुठा दर्ज करवाया हुआ है। जिसके सम्बन्ध में उसने अपने दोस्त हवा सिंह पुत्र सुरजभान वासी पुण्डरक जिला करनाल के साथ फोन पर बात चीत की। जिसने बताया की तीस हजार रुपये लेकर आ जाओ। वह अपने दोस्त हवा सिंह को लेकर बाला देवी द्वारा बताए पता मकान न0 654/7 पर देने के लिए आया है। वह उस महिला को पैसे देने के लिए जा रहा है। आपसे प्रार्थना है कि बाला देवी द्वारा बताए गए मकान पर रैड करके काबू किया जाए तो बाला देवी व उसके साथ पैसे ऐठने वाले काबू आ सकते हैं। पुलिस अधीक्षक ने मामले की गहनता से जांच करने के लिए उप पुलिस अधीक्षक रविन्द्र तोमर को नियुक्त किया गया। जिसने आगामी कार्यवाही करते हुए उपायुक्त महोदय से पत्राचार करके डयुटी मैजीस्ट्रैट नियुक्त करवाया।  उपायुक्त महोदय ने श्री जयवीर सिंह रंगा नायब तहसीलदार को डयुटी मजिस्टेट नियुक्त किया। जिस पर उप पुलिस अधीक्षक रविन्द्र तोमर ने डयुटी मैजीस्टैªट के साथ हवलदार राजिन्द्र, चन्द्रपाल, एसपीओ पपिन्द्र सिंह, महिला हवलदार रिना कुमारी और महिला सिपाही अनुराधा की टीम तैयार करके शिकायतकर्ता के साथ ईशारा मुकरर करके बताए गये पते पर पैसे देने के लिए भेजा गया। शिकायतकर्ता के पिछे-पिछे रैडिग पार्टी ने ईशारा मिलते ही बताए गये पते पर रैड करके मकान न0 654/7 साथ में बालादेवी को 30 हजार रूपये सहित काबू करके गिरफतार कर लिया। जिस मोबाईल नम्बर से शिकायतकर्ता से बातचीत हुई थी वह मोबाईल फोन पुलिस ने महिला एएसआई कैलाश कौर के कब्जे से बरामद किया। इतना ही नही जिस मकान में समझौता करने के लिए पैसे मंगवाए गये थे वह मकान भी महिला एएसआई कैलाश कौर का है। पुलिस ने दोनो महिलाओं को काबू करके गिरफतार कर लिया है। जिनकों बाद में डयुटी मैजीस्टैªट के सम्मुख पेश किया गया। जिनकों अदालत के आदेश से कारागार भेज दिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।