कोरोना वायरस के कुचक्र को तोडऩे के लिए संयुक्त रूप से जारी रखें सांझे प्रयास–सरकार द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों की पालना भी जरूरी–शारीरिक क्षमता और दक्षता बढ़ाने के लिए चिकित्सकों के मार्ग दर्शन में आयुर्वेदिक पद्घति का भी उठाएं लाभ:-गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
July 9th, 2020 | Post by :- | 16 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोरोना महामारी को नियंत्रित करने और कोरोना वायरस के कुचक्र को तोडऩे के लिए हम सबको सांझे प्रयास नियमित रूप से जारी रखने की जरूरत हैं। कोरोना से स्वयं भी सावधान रहें और लोगों को भी इसके बारे में जागरूक करते रहें। सरकार द्वारा समय-समय पर संक्रमण को रोकने सम्बधी विषय को लेकर हिदायतें जारी की जाती हैं। सभी को चाहिए कि वे हिदायतों का पालन करें तथा सरकार और प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा प्रदेश में अन्य राज्यों की तुलना में कोरोना पीढि़तों का रिकवरी रेट बहुत अच्छा हैं। सरकार द्वारा प्रदेश के सभी अस्पतालों में आधुनिक तकनीक से लैस उपकरण उपलब्ध करवाएं गए हैं। 
गृह मंत्री ने आगे कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकना हैं। इस दिशा में सरकार द्वारा पर्याप्त कदम उठाएं गए हैं। समाज के लोगों को चाहिए कि वे इस विषय को लेकर पूरा सहयोग करें। कोरोना से घबराने की नहीं बल्कि सावधान और सतर्क रहने की जरूरत हैं। सभी मास्क का उपयोग करें, सामाजिक दूरी बनाएं रखें, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें या फिर समय-समय पर एक अन्तराल के बाद साबुन के साथ हाथ धोंते रहें। जरूरत के अनुसार ही घर से निकलें। जनता का सहयोग कोरोना के संक्रमण को रोकने में सहायक सिद्घ होगा। इसलिए सभी नियमों की पालना अवश्य करें। उन्होनें यह भी बताया कि जब कोरोना शुरू हुआ तो उस समय हरियाणा में एक भी टेस्टिंग मशीन नहीं थी, वर्तमान में देखा जाए तो 14 से अधिक मशीनें काम कर रही हैं। 
आयुर्वेदिक परिवेश में झांकते हुए मंत्री ने कहा कि हमारी आयुर्वेदिक पद्घति बहुत ही शानदार और जानदार हैं। शारीरिक क्षमता और दक्षता बढ़ाने में आयुर्वेद पद्घति, योग, प्राणायाम ऐसे मजबूत आधार है जिसके उपयोग और प्रयोग से हम स्वयं को तंदरूस्त रख सकते हैं। उन्होनें यह भी कहा कि शारीरिक क्षमता बढ़ाने के लिए चिकित्सकों की राय के अनुसार आयुर्वेदिक दवाओं का भी उपयोग करते रहें। योग, प्राणायाम भी चिकित्सकों के मार्गदर्शन और निर्देशन में किया जाए तो शरीर को हष्टïपुष्टï रखने में सहायता मिलेगी। उन्होनें यह भी कहा कि पूरे प्रदेश में नजर रखी जा रही हैं। प्रतिदिन किए जा रहें कार्यो की समीक्षा भी की जाती हैं और जरूरत अनुसार सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जा रही हैं। सभी लोग हौसला रखें, हमारे सांझे प्रयास कोरोना को आवश्यक ही हराने में सफल होगें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।