शहीद फ्लाइट लेफ्टीनेट आशीष तंवर के नाम से होगा दीघौट का राजकीय विद्यालय|
July 9th, 2020 | Post by :- | 335 Views

शहीद को सम्मान देते हुए ग्राम पंचायत के सर्वसम्मति प्रस्ताव को दी सरकार ने मंजूरी,

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 09 जुलाई :- पलवल जिला के गांव दीघौट के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का नाम शहीद फ्लाइट लेफ्टीनेट आशीष तंवर कर दिया है। उपायुक्त नरेश नरवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि शहीद आशीष तवर वायु सेना में फ्लाइट लेफ्टीनेट के पद पर कार्यरत थे, जिनका 02 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश के सियांग जिले में भारतीय वायु सेना के एएन-32 विमान दुर्घटना में निधन हो गया। उन्होंने बताया कि शहीद आशीष तवर ने साहस और वीरता का परिचय देते हुए अपने कर्तव्यों का पालन करने में अपने प्राणों का बलिदान दिया।

उल्लेखनीय है कि इंडियन एयरपोर्स के एएन-32 विमान ने असम के जोरहाट से अरूणाचल के मेंचुका के लिए तीन जून को उड़ान भरी थी, जिसका करीब आधे घंटे बाद ही संपर्क टूट गया था। विमान में पलवल निवासी आशीष तंवर सहित 13 जवान सवार थे। 13 जून को सर्च अभियान दल ने विमान तक पहुंचकर सभी 13 जवानों की मृत्यु होने की पुष्टि कर दी थी।

उपायुक्त ने बताया कि दीघौट गांव की पंचायत ने सर्वसम्मति से शहीद को सम्मान देते हुए गांव दीघौट के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का नाम बदलकर शहीद फ्लाइट लेफ्टीनेट आशीष तंवर रखने के लिए प्रदेश सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा तथा जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग द्वारा की गई सिफारिश के मद्देनजर उपायुक्त पलवल ने प्रदेश सरकार के नियमानुसार गांव दीघौट के राजकीय विद्यालय का नाम राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के स्थान पर बदलकर शहीद फ्लाइट लेफ्टीनेट आशीष तंवर रखने का निर्णय लिया है।

सरकार की नीति के अनुसार जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग द्वारा शहीद आशीष तंवर के परिजनों को 50 लाख रुपये की राहत राशि प्रदान की। यह जानकारी जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग पलवल के सचिव कर्नल के.के. यादव ने दी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।