डी.सी. ने अपने ऑफिस में ली डिस्ट्रीक लेवल क्लीयरंस कमेटी की बैठक–बैठक में मौजूद रहे सम्बन्धित विभागों के अधिकारी–टावर लगाने सम्बन्धी विषय को लेकर कम्पनियों को मापदंड पूरे करने के दिए निर्देश।
July 8th, 2020 | Post by :- | 20 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बुधवार अपने कार्यालय में डिस्ट्रीक लेवल क्लीयरंस कमेटी की बैठक ली। बैठक में मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिये कि टावर लगाने संबधी विषय पर जिन कंपनियों ने मापदंड पूरे नहीं किये हैं और सम्बन्धित विभागों द्वारा उन्हें रिजैक्ट रिमार्कस दिया हुआ है, उनके आवेदन निरस्त माने जायेंगे। इसके साथ-साथ जिनके दस्तावेज पूरे हैं और उन्होंने फीस भरते हुए एनओसी प्राप्त कर ली है उनकी वास्तविक रिपोर्ट अगली बैठक में लाना सुनिश्चित करें ताकि उन बिंदुओं पर चर्चा करते हुए यदि स्वीकृति देनी है तो स्वीकृति दी जा सके और यदि रिजैक्ट करना है उस कार्य को भी किया जा सके।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बैठक के तहत एजैंडे में रखे तमाम बिंदुओं बारे विस्तार से चर्चा की तथा टावर कंपनी और सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा इस विषय से सम्बन्धित किए जा रहे कार्यों बारे जानकारी लेते हुए समीक्षा की। बैठक में नगर पालिका, नगर परिषद, जिला परिषद, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सडक़ें), टाउन एंड कंटरी प्लानिंग, हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं बुनियादी ढांचा, विकास निगम, एचएसआईडीसी व अन्य सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों ने भाग लेते हुए अपने सुझाव भी दिये। उपायुक्त ने विभाग के अधिकारियों को कहा कि इस विषय को लेकर रिपोर्ट पोर्टल पर भी अपलोड करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बैठक में स्पष्ट किया कि आगामी बैठक से पहले एंजैडे में रखे जाने वाले बिंदुओं की विस्तृत रिपोर्ट एवं जिन्होंने दस्तावेजों एवं अन्य नियमों को पूरा कर लिया है उसकी रिपोर्ट बैठक में रखना सुनिश्चित करें ताकि इस कार्य को पूरा कर लिया जाये। जिला उद्योग केन्द्र से संयुक्त निदेशक ने बैठक में रखे तमाम बिंदुओं बारे उपायुक्त को विस्तार से जानकारी दी।
बैठक में इस्टेट ऑफिसर सतिन्द्र सिवाच, जिला उद्योग केन्द्र से संयुक्त निदेशक दर्शन लाल, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता निशांत, जिला खनन अधिकारी भूपिन्द्र सिंह के साथ-साथ विभिन्न टावर कंपनियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। फोटो नम्बर

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।