भूपेंद्र सिंह हुड्डा जब भी सरकार गिराने की ईमानदारी से कोशिश करेंगे उस दिन मैं भी उनका साथ दूंगा और सरकार गिरा दूँगा
July 8th, 2020 | Post by :- | 41 Views
कैथल(विशाल चौधरी) इनेलो नेता अभय चौटाला ने मंगलवार देर  सांय लघु सचिवालय के निकट पार्टी के जिला कार्यालय का शुभारंभ किया और इनेलो के कार्यक्रम मेें लंबे समय बाद अच्छी खासी भीड़ उमड़ी नजर आई और कार्यकर्ताओं ने गुलाब के फूलों से अभय चौटाला का स्वागत किया। और शोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जिया उड़ाई .

अपने सम्बोधन में अभय चौटाला ने कहा की अगर किसान एक होकर अपनी लड़ाई नहीं लड़ेगा तो ये सरकार इन्हें मारने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। इनेलो नेता ने कहा कि अमेरिका जैसे देशों में इस महामारी से लडऩे के लिए सरकार अपने नागरिकों के खाते में दो हजार डॉलर डालकर उनकी मदद कर रही है और यहां प्रदेश की गठबंधन सरकार नागरिकों से ही पैसे मांग रही है। सन् 1987 में चौधरी देवी लाल ने प्रोत्साहन स्वरूप गरीब के बच्चे को एक रुपया देने का काम किया था ताकि बच्चा अच्छी शिक्षा लेकर नौकर लग सके। पर विडंबना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री बच्चों से पांच-पांच रुपये व किसानों से पांच किलो गेहूं कोरोना महामारी से लडऩे के लिए मांग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बरोदा उप-चुनाव भी आने वाला है,  बड़ौदा उपचुनाव पर मुख्यमंत्री के बयान के ऊपर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए अभय चौटाला ने कहा कि बड़ौदा से ना तो मुख्यमंत्री ने चुनाव लड़ना है और ना ही भूपेंद्र हुड्डा ने चुनाव लड़ना है यह केवल अखबारी बातें है यह दोनों केवल अपनी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए मीडिया के सामने ऐसी बातें करते हैं कांग्रेस और बीजेपी आपस में मिली हुई है

भूपेंद्र हुड्डा के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए अभय चौटाला ने कहा कि मेरे पास अगर 30 विधायक होते तो मैं सो प्रतिशत सरकार गिरा देता अगर भूपेंद्र सिंह हुड्डा चाहते हैं कि भाजपा की सरकार गिरे तो फिर इमानदारी के साथ इस काम के लिए आगे बढ़े लोग तो चाह रहे हैं कि सरकार गिर जाए आज तो जे जे पी के दो या तीन विधायक ही है जो सरकार के साथ रहना चाहते हैं उनके बाकी सभी विधायक इस सरकार से खफा है क्योंकि बीजेपी के विधायक जी चिल्ला चिल्ला कर कह रहे हैं कि प्रशासनिक अधिकारी हमारे नहीं सुनते तो फिर सरकार कैसे चल सकती है सरकार तो भूपेंद्र सिंह हुड्डा ही चला रहे हैं भूपेंद्र सिंह हुड्डा जब भी सरकार गिराने की ईमानदारी से कोशिश करेंगे उस दिन मैं भी उनका साथ दूंगा और सरकार गिरा दूंगा

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।