शिक्षा के क्षेत्र में इस तरह की लेटलतीफी सरकार की शिक्षा के प्रति विफलता का सूचक – आशुतोष पांडेय
July 8th, 2020 | Post by :- | 90 Views

कोंडागॉव/अमरेश कुमार झा


14580 चयनित शिक्षकों की नियुक्ति एवं प्रदेश के सभी विभागों में रिक्त पदों की भर्ती को लेकर आप का एकदिवसीय उपवास


प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी द्वारा 3 जुलाई से किए जा रहे आमरण अनशन के समर्थन में, आम आदमी पार्टी जिला कोंडागांव एक दिन का उपवास किया


आम आदमी पार्टी जिला कोंडागांव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि 14580 चयनित शिक्षकों की नियुक्ति और प्रदेश के सभी विभागों में रिक्त पदों की भर्ती को लेकर आम आदमी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी दुवारा 3 जुलाई से किए जा रहे आमरण अनशन के समर्थन में आज एक दिन का उपवास किया ।
पीताम्बर नाग ने कहा दस्तावेज सत्यापन कार्य पूर्ण हुए 6 माह हो गये, लेकिन अब तक एक भी अभ्यर्थियों को नियुक्ति नही मिल पायी है । सहायक शिक्षक, शिक्षक, विज्ञान सहायक शिक्षक, व्यायाम शिक्षक के दस्तावेजों का सत्यापन कार्य को 6 माह पूर्ण होने जा रहा है, लेकिन अब तक उनका पात्र – अपात्र सूची नही निकाला गया, जिससे उन्हें मानसिक तनाव का सामना करना पड़ रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में इस तरह की लेटलतीफी सरकार की शिक्षा के प्रति विफलता का सूचक है ।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने विषय की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री से मुलाकात का समय मांगा लेकिन उन्हें समय नही दिया गया, जिसके कारण वो 3 जुलाई से आमरण अनशन पर बैठे हैं । अगर मांगे नही मानी गई तो उग्र प्रदर्शन किया जाएगा

चंद्रभान श्रीवास्तव का कहना है सरकार चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति जल्द करें ताकि आने वाले सत्र में शिक्षकों का अभाव किसी भी विद्यालय में न रहें।

जीतू साहू ने कहा जब तक सरकार से इन दो मुद्दों पर कोई ठोस आश्वासन लिखित में प्रदेश के युवाओं को और आम आदमी पार्टी को नहीं मिल जाता, हमारा अनशन और आंदोलन जारी रहेगा ।
आम आदमी पार्टी द्वारा संचालित आंदोलन के इन दोनों मुद्दों पर अपना समर्थन देने के लिए पार्टी द्वारा एक मिस्ड कॉल नंबर जारी किया गया है, जिसका नंबर 6263230333 हैं। इस नंबर पर मिसकॉल करके प्रदेश के सभी लोग इन 2 मुद्दों पर अपना समर्थन दे सकते हैं । आज के एकदिवसीय उपवास में गजेंद्र धुर्व, कृष्णा सिदार, गोवर्धन पटेल पीयूष देवांगन, राकेश नेताम, जीतू साहू, गोकुल बैध, रूपेश विश्वकर्मा उपस्थित थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।