चंडीगढ़ के सरकारी दफ्तरों में पहुंची महामारी, शिक्षा विभाग बंद
July 8th, 2020 | Post by :- | 27 Views

कोरोना संक्रमण अब चंडीगढ़ के सरकारी दफ्तरों में भी पहुंच गया है। शिक्षा विभाग में संक्रमित मरीज मिले और इंजीनियरिंग विभाग भी उसी के पास है। रविवार को कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद सेक्टर-9 स्थित एडिशनल डीलक्स बिल्डिंग के फर्स्ट फ्लोर पर शिक्षा विभाग के सभी दफ्तरों को बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए। सोमवार को अन्य फ्लोर पर भी स्थित शिक्षा विभाग के सभी दफ्तरों को बंद कर दिया गया, लेकिन उसी फ्लोर पर इंजीनियरिंग विभाग के कर्मचारी जान खतरे में डाल कर अभी भी काम करने को मजबूर हैं।

बिल्डिंग में कोरोना वायरस का पॉजिटिव केस मिलने के बाद से कर्मचारियों में दहशत का माहौल है। सोमवार को जैसे ही कर्मचारियों के बीच यह खबर फैली, कई से कर्मचारी शाम 5 बजे से पहले ही घर चले गए। यह सिलसिला पूरे दिन जारी रहा, लेकिन इंजीनियरिंग विभाग की तरफ से न तो 50 प्रतिशत कर्मचारी बुलाने का कोई आदेश जारी हुआ, न ही घर से काम करने की अनुमति दी गई। एडिशनल डीलक्स बिल्डिंग के कई फ्लोर पर इंजीनियरिंग विभाग के दफ्तर शिक्षा विभाग के दफ्तरों के साथ ही हैं।

बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर, फर्स्ट फ्लोर, सेकेंड फ्लोर का पूरा हिस्सा, थर्ड फ्लोर व फोर्थ फ्लोर पर भी इंजीनियरिंग विभाग के कई दफ्तर मौजूद हैं। यहां पर कुल मिलाकर करीब 300 कर्मचारी काम करते हैं। इन फ्लोर पर पब्लिक हेल्थ डिवीजन 3 और 8 के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर व उनके सबडिवीजन, इलेक्ट्रिकल डिवीजन 1 और 2 के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर व उनके सबडिवीजन, सिविल डिवीजन 1, 4 और 6 के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर व उनके सबडिवीजन के दफ्तर स्थित हैं। इस संबंध में चीफ इंजीनियर मुकेश आनंद ने कहा कि ऑफिस इंचार्ज को कहा गया है कि कम से कम स्टाफ को बुलाया जाए। जब तक एडिशनल डीलक्स बिल्डिंग में सैनिटाइजेशन का काम होता है, तब तक वहां के कर्मचारी दूसरी बिल्डिंग में बैठ सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।