राष्ट्रिय नेत्रदान पखवाडे में हुआ पलवल डोनर्स क्लब को किया गया सम्मानित |
September 8th, 2019 | Post by :- | 108 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :-  देश में 25 अगस्त सें 8 सितम्बर तक चलने वाले 34वें राष्ट्रिय नेत्रदान पखवाडे का समापन देश कें विभिन्न नेत्र संस्थानों और नेत्र बैंको के द्धारा आयोजित नेत्रदाता परिवारों और विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के सम्मान समारोह के साथ सम्पन्न हुआ l इसी पखवाडे के अन्तर्गत नई दिल्ली के दरियागंज स्थित डॉ.श्राफ चैरिटी आई बैंक द्धारा भी गत दिवस सम्मान समारोह का आयोजन किया गया l

इस दौरान सैकडो नेत्रदाता परिवारो को सम्मानित किया गया जिनके प्रियजनो की वजह सें न जाने कितने घरो के चिराग रोशन हुएl पलवल की सामाजिक संस्था पलवल डोनर्स क्लब “ज्योतिपुँज” के मुख्य संयोजक आर्यवीर लायन विकास मित्तल और सह संयोजक अल्पना मित्तल कों नेत्रदान के क्षेत्र में किए गयें सराहनीय कार्य के लिए कार्यक्रम की मुख्य अतिथि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की मुख्य सलाहकार डा. प्रोमिला गुप्ता, विशिष्ट अतिथि नेशनल प्रोग्राम फॉर कंट्रोल ऑफ ब्लाइंडनेस के राजकीय कार्यक्रम अधिकारी डा. के एस बागोटिया,

फोर्टीस के अंग प्रत्यारोपण विभाग के निदेशक डा. अवनिस सेठ,  इण्डियन कोंसिल आफ मेडिकल रिसर्च नयी दिल्ली के वैज्ञानिक डा. के के गांगुली,  डॉ.श्राफ चैरिटी आई बैंक की डा मनीषा आचार्य  ने सम्मानित किया l

डा. प्रोमिला गुप्ता ने कहा कि देश के गांव-गांव में जाकर नेत्रदान के लिए जागरूक करना होगा। यह बताना होगा कि शरीर को मिट्टी में मिल जाना है। पंचभूत का शरीर, पंचभूत में चला जायेगा। इसलिए नेत्रदान का संकल्प लेना चाहिए। इसके देश भर अनेको समाजसेवी संस्थाएं काम कर रही हैं, लेकिन अभी और सहभागिता बढ़ाने की जरूरत है। विदित हो कि पलवल डोनर्स क्लब ने पिछले कुछ वर्षो में विभिन्न संस्थाओं और लोगो की मदद सें अबतक 100 लोगो के नेत्रदान करवाए है l

आर्यवीर लायन विकास मित्तल ने बताया कि इस पखवाडे के दौरान लोगों को नेत्रदान के लिए जागरूक करने के लिए स्कुलों व कालिज तथा अलग अलग स्थानों पर भी जागरूकता शिविर, स्लोगन लेखन , पोस्टर बनाओ आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें हजारों बच्चों और बडों ने नेत्रदान अभियान सें जुडनें की शपथ लीl इस अवसर पर देश के विभिन्न शहरों से नेत्रदाता परिवार, नेत्र प्राप्त कर्ता परिवार और विभिन्न सामाजिक संस्थाए भी शामिल हुई ।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।