प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोहतक से पलवल जिले के दो कन्या महाविद्यालयों का किया लोकार्पण |
September 8th, 2019 | Post by :- | 227 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पशु मेला मैदान रोहतक से जिला पलवल में 12-12 करोड़ रुपये की लागत से नवनिर्मित राजकीय कन्या महाविद्यालय बडौली तथा राजकीय कन्या महाविद्यालय मंडकोला का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला ने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पूर प्रदेश में इतने विकास कार्य करवाए है जोकि पिछले 70 वर्षों में नही हुए। इसी कड़ी में आज इन दोनो महाविद्यालयों का लोकार्पण देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करके प्रदेश के विकास कार्यों में एक नई कड़ी जोडी है। दीपक मंगला ने बताया कि इन महाविद्यालयों की मांग काफी पुरानी थी, जिसको प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पूरा किया है।

उन्होंने बताया कि राजकीय कन्या महाविद्यालय मंडकोला लगभग 7 एकड़ भूमि पर तथा राजकीय कन्या महाविद्यालय बडौली लगभग साढ़े 9 एकड़ भूमि पर बनाए गए हैं। इन महाविद्यालयों के बनने से आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली बेटियों को अपनी पढाई के लिए दूर दराज शहरों में नहीं जाना पडेगा, वे अपनी पढाई अब नजदीक के महाविद्यालयों में कर पाएंगी।

दीपक मंगला ने बताया कि पिछली सरकारों में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर था। वर्तमान सरकार ने भ्रष्टïचार पर अंकुश लगाया है। अब नौकरियां योग्यता के आधार पर दी जा रही हैं। जो पहले मंत्री व विधायकों की सिफारशों पर दी जाती थी। उन्होंने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने सभी विधानसभा क्षेत्रों में समान रूप से विकास कार्य कराए हैं।

राजकीय कन्या महाविद्यालय मंडकोला के प्रधानाचार्य अश्वनी कुमार गुप्ता व राजकीय कन्या महाविद्यालय बडौली की प्रधानाचार्या सुशीला देवी ने बताया कि इन महाविद्यालयों में अभी बी.ए. व बी.कॉम. कक्षाएं लगनी शुरू हुई हैं। आगे जल्द ही और कक्षाएं बढा दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि इन महाविद्यालयों में बेटियों के लिए ट्यूशन फीस मुफ्त है। इन महाविद्यालयों के नए भवन में आगामी 9 सितंबर 2019 से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।

 

* “लोकहित एक्सप्रैस” में पत्रकार बनने के लिए सम्पर्क करें।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।