अभय चौटाला के नेतृत्व दर्जनों कार्यकर्ताओं ने थामा इनेलो का दामन
July 6th, 2020 | Post by :- | 43 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  । अभय सिंह चौटाला ने दर्जनों लोगों को इनेलो का फटका पहनाकर पार्टी का दामन थमाया। नई अनाज मंडी स्थित इनेलो के कार्यालय पर इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने सैकड़ों कार्यकर्ताओं को संबोधित किय। इस मौके पर नूंह शहर के चेयरमैन विष्णु सिंगला ने इनेलो का दामन थामा। इसके अलावा अन्य को पटका पहनाकर का दामन थमाया।
 अभय सिंह चौटाला ने कहा कि  आज प्रदेश में प्रदेश में लोग इनेलो के साथ जुड़ रहे हैं। जिसे पार्टी का संगठन लगातार मजबूत होता जा रहा है उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने 8 माह के कार्यकाल में खेत में काम करने वाले किसान को मजदूर को बहुत परेशान किया है। वहीं सरकार ने कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान इन दोनों वर्गों को सबसे अधिक परेशान किया। उन्होंने कहा कि किसान लॉकडाउन के दौरान जब अपनी फसलों को लेकर अनाज मंडी लेकर आए तो उनके ऊपर सरसों की पाबंदी लगा दी गई। उन्होंने कहा कि आज लोगों ने कांग्रेस, बीजेपी व जेजेपी पर जमकर वार किया। उन्होंने कहा कि जेजेपी पार्टी प्रदेश के लोगों को सिर्फ झूठे वादे दे रही है जिससे लोगों का मोहभंग हो चुका है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में हर कार्यकर्ताओं को एक विधायक के समान मान सम्मान दिया जाता है। लेकिन अन्य पार्टियों में लोगों कोई मान सम्मान नहीं दिया जाता उन्होंने कहा कि आज कार्यकर्ताओं को पूरे जोश के साथ काम करने की जरूरत है उनका संगठन करो बरोदा के आम चुनाव में जेजेपी बीजेपी या कांग्रेस की जमानत जब्त होगी। उन्होंने कहा कि अगर मेवात के कार्यकर्ता महीने में 3 दिन बरोदा में पार्टी का प्रचार प्रसार करेंगे तो बरोदा के लोग इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी को भारी बहुमत से विजन बनाएंगे।
 इस मौके पर मुख्य रूप से इनेलो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रकाश भारती, प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी, राष्ट्रीय सचिव नरेंद्र वर्मा, पार्लियामेंट्री बोर्ड के मेंबर नरेश, जिला अध्यक्ष हाजी सुभान को सिंगारिया, पूर्व  हल्का अध्यक्ष इब्राहिम खान,  लोकसभा के पूर्व प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह राणा, अय्युब एडवोकेट फिरोजपुर झिरका, रणजीत नंबरदार इन्द्री सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।