जिला की 11 पार्क/व्यायामशालों का किया उद्घाटन।
July 5th, 2020 | Post by :- | 24 Views

भिवानी, 05 जुलाई संवाद सहयोगी ममता गौड़।
रविवार को पूर्व मंत्री एवं भिवानी से विधायक घनश्याम दास सर्राफ और बवानीखेड़ा से विधायक बिशंभर वाल्मीकि ने गांव सरसा घोघड़ा से जिला की 11 पार्क/ व्यायामशालाओं का उद्घाटन किया। इन पर करीब तीन करोड़ 64 लाख 47 लाख रुपए की लागत आई है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने वीडियो कॉंफ्रेंस के माध्मय से अपना संदेश दिया। कार्यक्रम में उपायुक्त अजय कुमार और अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार भी मौजूद रहे।
वीडियो कॉंफ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि गांवों में बनाई जा रही ये पार्क/व्यायामशालाएं बहुत ही उपयोगी साबित होंगी। उन्होंने कहा कि योग भारत की प्राचीन पद्धति है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की दूरगामी सोच से योग को आज विश्व के लगभग सभी देशों ने स्वीकार किया है। परिणाम स्वरूप 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है, जिसमें 170 देशों की सीधे भागीदारी होती है। उन्होंने कहा कि गांवों में बनाई जा रही पार्क/व्यायामशालाएं युवाओं की अच्छी सेहत का नया मार्ग तैयार करेंगी। उन्होंने कहा कि यहां पर युवा ही नहीं बल्कि बड़े भी योग एवं प्राणायाम कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि समृद्ध समाज के लिए स्वस्थ होना जरूरी है। हमारे स्वास्थ्य पर ही देश व समाज की तरक्की निर्भर करती है। इस दौरान उप मुख्यमंत्री श्री चौटाला ने भी अपना संदेश देते हुए युवाओं को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि युवाओं का फिजीकल फिट होना जरूरी है।
कार्यक्रम के दौरान पूर्व मंत्री एवं भिवानी से विधायक श्री सर्राफ ने कहा कि युवा समाज की रीढ़ होते हैं और पार्क/व्यायामशालाओं में योग और प्राणायाम के माध्यम से युवाओं की एक तरह से नई पौध के रूप में तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन पार्क/व्यायामशालाओं में नौ जवानों के साथ बुजुर्ग भी योग कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में स्वस्थ रहने का एकमात्र माध्यम योगासन एवं प्राणायाम है। कोरोना संकमण के दौरान फिलहाल भी योगासन एवं प्राणायाम कारगर हैं, जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। ऐसे में ये पार्क/व्यायामशालाएं बहुत उपयोगी हैं।
बवानीखेड़ा से विधायक श्री वाल्मीकि ने गुरु पुर्णिमा की बधाई देते हुए कहा कि पावन पर्व पर पार्क/व्यायामशालाओं का शुभारंभ हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार हर वर्ग के लिए काम कर रही है। पार्क/व्यायामशालाएं विशेषकर युवा वर्ग के लिए कारगर साबित होंती हैं। यह युवाओं की नींव का निर्माण करती हैं। उन्होंने बताया कि 11 व्यायामशालाओं में पांच व्यायामशालाएं हलका बवानीखेड़ा की शामिल हैं, जिन पर करीब एक करोड़ 48 लाख रुपए की लागत आई है। विधायक ने कहा कि प्रदेश सरकार पारदर्शिता के साथ काम कर रही है। इस दौरान उपायुक्त अजय कुमार और अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने भी ग्रामीणों को शुभकामनाएं दी कहा कि ये युवाओं को योग एवं प्राणायाम के लिए युवाओं को प्रेरित करें ताकि वे इन पार्क कम व्यायामशालाओं का लाभ उठा सकें। इस दौरान उन्होंने युवाओं से भी अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने का आह्वान किया ताकि कोरोना महामारी संक्रमण से बचा जा सके।

इन पार्क/व्यायामशालाओं का किया शुभारंभ

कार्यक्रम के दौरान विधायक श्री सर्राफ व श्री वाल्मीकि ने गांव राजगढ़, नांगल, सरसा घोघड़ा, मुंढ़ाल खुर्द, जाटू लोहारी, सिवाड़ा, बलियाली, झुप्पा खुर्द, पातवान, बढ़ेड़ा व गौरीपुर की पार्क/व्यायामशालाओं का उद्घाटन किया। गांव राजगढ़ की पार्क/व्यायामशाला पर 27 लाख 70 हजार, नांगल में 27 लाख 53 हजार, सरसा घोघड़ा में 47 लाख 63 हजार, मुंढ़ाल खुर्द में 20 लाख रुपए, जाटू लोहारी में 20 लाख रुपए, सिवाड़ा में 20 लाख रुपए, बलियाली में 40 लाख 60 हजार रुपए, झुप्पा खुर्द में 46 लाख 72 हजार रुपए, पातवान में 46 लाख 64 हजार रुपए, बुढ़ेड़ा में 43 लाख 94 हजार रुपए और गौरीपुर की पार्क/व्यायामशाला पर 23 लाख 71 हजार रुपए की लागत लाई है। इस पर से 11 पार्क/व्यायामशालाओं पर करीब तीन करोड़ 64 लाख 47 हजार रुपए की लागत आई है।
इस दौरान गांव सरपंच उदय सिंह तंवर व गांव के प्रबुद्ध लोगों को अतिथियों का फूल मालाओं से स्वागत किया। इस मौके पर जिला परिषद चेयरमैन रमेश ओला, उप पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह, तहसीलदार मोहनलाल, जेजेपी जिला प्रधान विजय गोठड़ा, डीआईओ पंकज बजाज, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. देवेंद्र शर्मा, डॉ. राज कुमार वैद, पंचायती राज कार्यकारी अभियंता केके धनखड़, जेई प्रवीण बजाज के अलावा संबंधित गांवों के पंचायत प्रतिनिधि व गांव के प्रबुद्ध नागरिक मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।