पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत किसान शिविरों का उठाएं लाभ-एलडीएम डी.के .गुप्ता।
July 4th, 2020 | Post by :- | 21 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
हरियाणा सरकार के निर्देशानुसार पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत ऐसे किसानों के लिए की गई है, जिनके पास या तो कम जमीन है या फिर जमीन नहीं है, लेकिन वह दुधारू पशुओं द्वारा दूध उत्पादन कर रहे हैं। इस योजना का मुख्य उदेश्य इस तरह के किसानों को पशु पालन के लिए ऋण देना है।
जिला अग्रणी बैंक अधिकारी डी0के0गुप्ता ने बताया कि पशु किसान क्रेडिट स्कीम(केसीसी) के समान ही है, जिसमें खाता सुचारु रूप से चलाने पर 2 से 3 प्रतिशत ब्याज सबसिडी का प्रावधान है, बशर्ते कुल ऋण राशि (केसीसी + पशु केसीसी) 3.00 लाख रुपये तक हो। इसके अतिरिक्त लघु एवं सीमांत किसानों के लिए इस योजना में 1.60 लाख तक ऋण दिया जाएगा।
इस योजना के अंतर्गत अंबाला जिला के सभी खंडों में विभिन्न तिथियों पर कैंप जिला पशुपालन विभाग के उपनिदेशक के सहयोग से लगाए जाएँगे। इसी प्रकार का एक कैंप खण्ड अंबाला एक के अंतर्गत गाँव नग्गल में लगाया गया। इस कैंप में पशु किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कुल 1182 आवेदन प्राप्त हुए। इन आवेदनों को उपस्थित संबन्धित बेंक अधिकारियों को आगामी कार्यवाही हेतु दे दिया गया है। इसी प्रकार के कैंपों का आयोजन 6 जुलाई को अंबाला-द्वितीय खण्ड, 08 जुलाई को बराडा खण्ड, 10 जुलाई को नारायण गढ़ खण्ड, 13 जुलाई को साहा खण्ड, 15 जुलाई को शहजादपुर खण्ड में किया जाएगा।
इन कैंपों में सभी खंडों के बैंक अधिकारी भाग लेंगें और मौके पर ही ग्राहकों से ऋण आवेदन भरवाएंगे। इसके अतिरिक्त इन कैंपों में जिला पशुपालन विभाग के उपनिदेशक, अधिकारी व कर्मचारी भी मोजूद रहेंगे और आम जनता को इस योजना के बारे में विस्तार से बताएँगे।
जिला अग्रणी बैंक अधिकारी ने इस संबंध में सभी पशुपालक किसानों से अनुरोध किया कि वो इन कैंपों में जरूर भाग लें व इस योजना का लाभ उठाएं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।