अतिक्रमण हटाने के मामले में दोहरा रवैया अपना रहे है नप अधिकारी : राहुल मंडोरा
September 8th, 2019 | Post by :- | 115 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

बहादुरगढ़ शहर में नगर परिषद बहादुरगढ़ के अधिकारी करते हैं दोहरी नीति के तहत करते हैं अवैध अतिक्रमण करने वालों पर कार्रवाई। यह कहना है सामाजिक कार्यकर्ता व आरटीआई एक्टिविस्ट राहुल मंडोरा का आज दिनांक 6/9/ 2019 को नगर परिषद बहादुरगढ़ के मुख्य अधिकारी ईओ को दी अपनी शिकायत शिकायत के विषय में राहुल मंडोरा ने बताया कि नगर परिषद बहादुरगढ़ की टीम ने कल शहर के नजफगढ़ रोड में कई स्थानों पर अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए कार्रवाई की थी जिसमें कार्रवाई होती देख बहुत अच्छा लगा कि ऐसे ही बहादुरगढ़ में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ दुकानदारों पर कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन दुख इस बात का है कि नगर परिषद बहादुरगढ़ की टीम ने यह कार्रवाई सिर्फ और सिर्फ गरीब दुकानदारों पर ही करके अपने कार्य की इतिश्री कर ली वरना नगर परिषद अधिकारियों को भी बहुत अच्छी तरह से पता है कि बहादुरगढ़ में काफी जगह ऐसी भी है जहां पर दुकानदारों ने अवैध अतिक्रमण करके सरकारी प्रशासन में नगर परिषद बहादुरगढ़ को अंगूठा दिखा रखा है। परंतु उन जैसे दबंग वे राजनीतिक पहुंच रखने वाले दुकानदारों पर आप और आपकी टीम भी कार्रवाई करने से डरती है खौफ खाती है। गत महीने पहले भी आपकी नगर परिषद बहादुरगढ़ की एक टीम पूरे दलबल के साथ सेक्टर 6 मोड़ देवीलाल पार्क के साथ एक फ्रूट ठेकेदार के द्वारा किए गए अवैध कब्जों को हटाने गई थी तो वह ठेकेदार आपके इन अधिकारियों को उल्टा सीधा बोल कर समान नहीं हटाने की सरेआम धमकी देता रहा और नगर परिषद बहादुरगढ़ के अधिकारी तमाशबीन बनकर चुपचाप खड़े रहे। यहां तक कि एक मनोनीत पार्षद ने भी वहां आकर उस अवैध अतिक्रमण करने वाले दुकानदार का पक्ष लेते हुए सभी नगर परिषद के अधिकारियों कर्मचारियों को काफी भला बुरा कहा और हाथापाई भी की या नजारा पूरा बाद वर्ड देखा और तो और उक्त अवैध अतिक्रमण करने वाले दुकानदार व मनोनीत पार्षद का बाल भी बांका नहीं हुआ। उल्टा आपके नगर परिषद बाद वोट के तमाम अधिकारी इस घटना को रफा-दफा करने को आतुर रहे। जिससे या लगता है कि नगर परिषद बाद वार्ड में दो तरह कानून चलते हैं अमीर में दबंग के लिए अलग है गरीब है जिसे कोई भी पहुंच नहीं हो उसके लिए अलग और इसीलिए आपकी टीम ऐसे दबंग वे राजनीतिक पहुंच वाले अवैध अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने से डरती है डर हो भी क्यों नहीं पता नहीं कब आपका तबादला कर दिया जाए और रही किसी गरीब अवैध अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों के चालान भी कटवा लेगा और दो चार गालियां देगा क्योंकि उसकी सुनने वाला कोई नहीं उसकी सुनने के लिए कोई खाली थोड़ी बैठा है श्रीमान जी मैं किसी भी अवैध अतिक्रमण करने वाले दुकानदार का पक्षधर नहीं हूं मेरे लिए गरीब अवैध अतिक्रमण करने वाले भी दोषी है और दबंग व राजनीतिक पहुंच रखने वाले भी दोषी है परंतु सिर्फ कार्रवाई गरीब दुकानदार पर होना यह चुभता है अगर कार्रवाई हो सभी अवैध अतिक्रमण करने वालों पर हो चाहे वह कोई भी हो मैंने यो नगर परिषद बहादुरगढ़ को 31/5/ 2019 को अवैध अतिक्रमण करने की एक शिकायत दी थी जिसका डायरी डिस्पैच नंबर 1360 था जिसमें मैंने शिकायत दी थी कि सेक्टर 6 के मोड पर ही किसी ने जूस कॉर्नर खड़ा किया हुआ है जिस शिकायत को लेकर आज कई महीने बीतने पर भी उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि वह कोई गरीब दुकानदार नहीं है और तो और आप ही की सरकारी दुकान में रेलवे रोड बनाए नए रोड के दुकानदार जो कि कई वर्षों से 6 फुट के जनता के चलने के लिए अवैध कब्जा किए बैठे हैं उन पर कई शिकायतें देने के बावजूद बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं करना नगर परिषद के अधिकारियों को दबंग में राजनीतिक पहुंच वालों का खौफ डर साफ साफ दिखाई देता है। यहां तक कि खुद नगर परिषद बहादुरगढ़ कार्यालय के बाहर ही दुकानदारों ने कब्जा किए हुए लेकिन बोलने वाला कोई नहीं सिर्फ नगर परिषद के अधिकारी अपना भाईचारा निभा जा रहे हैं। मेरी आपसे यही प्रार्थना है कि चाहे अवैध अतिक्रमण करने वाला कोई भी हो बहादुर गढ़ कि आम जनता अवैध अतिक्रमण करने वालों की वजह से दुखी व त्रस्त है। अवैध अतिक्रमण को हटाते समय सभी पर एक ही नियम अपनाए चाहे वह कोई भी हो आशा है। आप न्याय नियम व समानता के साथ बहादुरगढ़ के दुकानदार द्वारा किए गए अवैध अतिक्रमण को हटाने का कार्य निपुणता के साथ करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।