फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करने वाले तीन शिक्षकों पर मुकदमा
July 3rd, 2020 | Post by :- | 19 Views

इटावा :     फर्जी दस्तावेज के सहारे शिक्षक की नौकरी हथियाने वाले तीन लोगों के खिलाफ अलग-अलग थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। शिक्षा विभाग में बड़ी संख्या में फर्जी दस्तावेज के जरिये नौकरी हथियाने का खुलासा जांच में परत दर परत हो रहा है। शासन ने ऐसे लोगों की एसआईटी से जांच कराई थी। इसके बाद सभी जिलों में एक जिला स्तरीय कमेटी गठित कर शेष रह गए शिक्षकों की जांच कराकर कार्रवाई का आदेश दिया गया था।

भरथना थाना में खंड विकास अधिकारी ताखा अवनीश कुमार ने रामप्रकाश पुत्र राम प्रसाद निवासी दुगाईन सिरसा के विरुद्ध अपने शैक्षिक मूल प्रपत्रों में हेराफेरी कर फर्जी प्रपत्रों के आधार पर शिक्षा विभाग में धोखाधड़ी से नौकरी प्राप्त करने तथा विभाग को धोखा देकर धन अर्जित करने का मुकदमा दर्ज कराया। दूसरा मामला चकरनगर थाना में खंड शिक्षा अधिकारी दिग्विजय सिंह ने संदीप पुत्र वीरेंद्र सिंह सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय छिबरौली के खिलाफ दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि आरोपित द्वारा अपने शैक्षिक मूल प्रपत्रों में हेराफेरी कर फर्जी प्रपत्रों के आधार पर शिक्षा विभाग में धोखाधड़ी से नौकरी प्राप्त की गई तथा विभाग को धोखा देकर धन अर्जित किया गया। तीसरा मामला फ्रेंड्स कालोनी थाना में खंड शिक्षा अधिकारी बसरेहर राजेश कुमार ने दर्ज कराया है। उनके मुताबिक सीमा यादव पुत्री बांकेलाल द्वारा फर्जी अंकतालिका लगाकर धोखाधड़ी करके फर्जी तरीके से नौकरी हासिल की गई।

इन सभी शिक्षकों को जनवरी 2020 में ही निलंबित कर दिया गया था। इन शिक्षकों ने आगरा विश्वविद्यालय से वर्ष 2005 में बीएड प्रशिक्षण किया था जिसकी डिग्री फर्जी पाई गई थी। जिसकी एसआइटी द्वारा जांच की गई थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।