नगरपालिका प्रशासन व ग्रामीणों की वार्ता विफल, पुतले फूंके, आक्रोशित ग्रामीणों ने मनाया मातम।
July 3rd, 2020 | Post by :- | 32 Views

श्रीगंगानगर,लोकहित एक्सप्रैस(सतनाम मांगट)।श्रीगंगानगर जिले में श्रीविजयनगर के 29 जीबी में लगातार 12 दिन से जारी धरना, रामप्रताप शर्मा ने की है 2 दिनों से भूखहड़ताल भी शुरू, प्रशासन ने नहीं ली सुध।।श्रीविजयनगर के 29GB शिवपुरी में धरना 12 दिन से लगातार जारी है,प्रशासन के लगातार अनदेखी से आहत,रामप्रताप शर्मा ने बीते 2 दिन से आमरण अनशन शुरू कर रखा है,नगर पालिका प्रशासन व स्थानीय प्रशासन के प्रति ग्रामीणों के अंदर भारी रोष व्याप्त हो गया।रोष प्रति स्वरूप से ग्रामीणों ने नगर पालिका ईओ और नगर पालिका चेयरमैन के पुतले बनाकर शाम 4:00 बजे नगरपालिका के आगे दहन किए,धरना स्थल पर विक्रम तवर,सरपंच प्रतिनिधि गोपाल मेघवाल ,राजेंद्र शर्मा, जगदीश प्रसाद शर्मा ,सोहनलाल बावरी ,ओम प्रकाश नायक आदि काफी ग्रामीण मौजूद थे,ग्रामीणों का कहना है कि जब तक कचरा डालना तुरंत बंद नहीं करेंगे तब तक आमरण अनशन जारी रहेगा।इसी प्रकार धरना स्थल पर भाजपा विधायक बलवीर लूथरा और अवी दानेवालिया भी पहुंचे ,उन्होंने भी ग्रामीणों की मांंग को जायज ठहराया,यह बताया कि नगरपालिका की गुंडागर्दी बढ़ोतरी हुई है, हम भी ऊपर आपकी बात पहुंचाएंगे।समस्या हल करने की कोशिश करेंगे।।यहाँ सरपंच, विद्यायक और जनता से ऊपर नजर आ रही हैं नगरपालिका की हठधर्मिता।यह वो दौर हैं जब केंद्रीय सता धारी दल के विधायक भी सिर्फ़ धरना स्थल पर समर्थन देते बल्कि यहां विधायक प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करके तुंरत प्रभाव से कार्रवाई करते ।आवश्यक समाधान करने के निर्देश जारी कर सकते थे, सबसे अजीब बात तो जनता को यह भी गले नहीं उतर रही कि मौजूदा विधायक जिस दल से है नगरपालिका अध्यक्ष भी उसी पार्टी से ही है।मतलब श्रीविजयनगर में फ़िलहाल बोर्ड भाजपा का है लेकिन फिर भी भाजपा विधायक सिर्फ समर्थन कर रहे हैं सिवाए सख्त कार्रवाई के निर्देश देने के।वहीँ ग्रामीण कचरे की समस्या से जूझ ही रहे हैं आजकल कचरा उठाव न होने के चलते शहर के हालात भी बिगड़ रहे हैं।सफ़ाई व्यवस्था शहर में भी चरचमरा गयी है कभी भी मण्डी निवासी भी धरना लगा सकते हैं ऐसे में नगरपालिका दोहरी घिर जाएगी क्योंकि गांव में ग्रामीण कचरा डालने नही देंगे अन्यत्र स्थान की व्यवस्था नही हो पाई और शहर में से कचरा उठाव न होने के चलते शहर वासियों की गंदगी व बदबु से हालत खराब हो ही रही है।अब कभी भी मण्डी निवासियों के सब्र का बन्ध टूट सकता है और नगरपालिका को दो दो धरणो का सामना करने की नौबत आ जाएगी।।फिलहाल आज वार्ता के दौर नजर आए लेकिन कोई हल नही निकला और ग्रामीण और भी ज्यादा रोष प्रकट करने नजर आए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।