पुलिस कर्मचारीयों की विडियों बनाकर ब्लैक मेल कर लाखों की माँग करने के तीन आरोपी गिरफ्तार|
July 3rd, 2020 | Post by :- | 30 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 03 जुलाई :- पलवल शहर थाना पुलिस ने तीन ऐसे आरोपीयो को गिरफतार किया है। जिन्होने बस अडडा चौकी मे तैनात तीन पुलिस कर्मचारीयों की विडियों बनाकर उन्हे ब्लैक मेल करके तीन लाख रूप्यें की मांग की थी। ए.एस.आई. हरपाल सिंह की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज करके इस षडयंत्र मे लिप्त तीनो आरोपीयो जीसान अली उर्फ मुन्ना निवासी बेगमपुरा दिल्ली, सलमान निवासी मागेराम पार्क बुद्धविहार दिल्ली व शाकिर निवासी नवीन विहार दिल्ली को दिल्ली से गिरफतार कर लिया है। जिनका कोरोना टैस्ट नेगेटिव प्राप्त होने पर आरोपीयो को आज शामिल तफ्तीश किया गया। जिन्हे कल अदालत मे पेश करके पुलिस रिमान्ड पर लिया जावेंगा।

उप-पुलिस अधीक्षक शहर पलवल यशपाल सिंह ने बताया कि दिनांक 24.06.2020 को ए.एस.आई हरपाल सिंह चौकी बस अडडा मे हाजिर था कि कन्टोल रूम से सूचना प्राप्त हुई कि माल गौदाम रोड पर सलमान निवासी दिल्ली की गाडी का एक्सीडैन्ट हो गया है। तभी दोनों पक्ष चौकी मे आ पहुंचे। जो शिकायतकर्ता हर्षित निवासी तुहीराम कालोनी पलवल ने बताया कि मेरी गाडी मे सलमान निवासी दिल्ली ने अपनी गाडी से टक्कर मार दी थी। तो अब हमारा राजीनामा हो गया है। हम कोई कार्यवाही नही कराना चाहते। जिसके बारे मे उन्होने लिखित मे दिया।

ए.एस.आई के द्वारा दोनो पक्षों को फारिंग करके भेज दिया। तभी कुछ देर मे सलमान निवासी दिल्ली चौकी मे आया और ए.एस.आई को बोला कि मै कोरोना योद्धाओं की ईज्जत करता हू। अपने तौर पर मास्क व सैनेटाईजर बाटंकर सहायता करता हू। आज मेरे पास सामान नही है। इतना कहकर उसने 500 रूप्यें ए.एस.आई को दिये और चौकी के मुंशी को भी देने लगा। तो मुन्शी ने मना कर दिया। उसने कहा कि रतिराम होमगार्ड गरीब आदमी है उसे दें दों। चौकी के बाहर खडे एक एस.पी.ओ. अजय कुमार को भी उसने 500 रूप्यें दिये और वो वहा से चला गया। करीब एक घण्टे बाद सलमान का ए.एस.आई के पास फोन आया कि आपकी विडियों बना ली है। मेरी मालिक से दिल्ली आकर मिलों। और मौका पर पलवल में ही डरा धमकाकर उससे 10,000 रूप्यें ले लियें।

जब ए.एस.आई सलमान के साथ दिल्ली पहुंचा तो उन्होने तीन लाख रूप्यें की मांग की। उन्होने धमकी दी कि कुछ दिनो पहले हमने रोहतक मे भी एक झूठा एक्सीडैन्ट दिखाकर एक पुलिस कर्मचारी को ऐसे ही फसाया था। जिसके खिलाफ केश दर्ज हों गया। हमने उससे राजीनाम के 10 लाख रूप्यें लिये है। जिस बारे मे चौकी मे आकर ए.एस.आई ने लिखित शिकायत दी। जिस पर मामला दर्ज करके आरोपीयों के फोन काल रिकार्ड की गई। पुख्ता सबूत मिलने पर डियूटी मजिस्टेट नियुक्त करवाकर तीनो आरोपीयों को दिल्ली से गिरफतार कर लिया है। मौका पर आरोपीयों से रंगदारी के 2 लाख रूप्यें रिक्वर किये गयें। जिनकी कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव प्राप्त होने पर आज शामिल तफ्तीश किया गया।

आरोपीयों ने गहन पुछताछ मे बताया कि उन तीनो ने निम्नलिखित घटनाओ को अंजाम दिया है:-

  1. गत माह की तीन तारीख को तीनो आरोपीयों ने इसी प्रकार एक्सीडैन्ट की घटना रचकर थाना शहर रोहतक के हवलदार संजय कुमार को राजीनामा के पैसे दूसरी पार्टी को देने के लिये हवलदार के हाथ मे देकर उसकी विडियों तैयार करके उसके खिलाफ रिश्वत का झूठा केश दर्ज करा दिया था। जिसमे हवलदार संजय गिरफतार हो चुका है तथा आरोपीगण उससे राजीनामा के लिये 10 लाख रूप्यें की मांग कर रहे थें व 30 हजार रूप्यें नकद ले लिये थें। इस सम्बन्ध मे संजय की शिकायत पर रोहतक मे भी आरोपीयों के खिलाफ केश दर्ज हुआ है।
  2. करीब 2 माह पूर्व एस.जी.एम नगर फरीदाबाद के थाना के ईलाका मे तीनों आरोपीयों ने षडयंत्र के तहत फर्जी एक्सीडैन्ट दिखाकर थाना मे तैनात हवलदार लोकराम को राजीनामा के सम्बन्ध मे दूसरी पार्टी को देने के लिये पैसे देकर उसकी विडियों बनाकर उसे तीन लाख रूप्यें ऐठ लियें।
  3. करीब 10 दिन पूर्व सोहना शहर थाने के हवलदार राकेश की भी इसी प्रकार विडियों बनाकर तीन लाख रूप्यें की मांग की। जिनमे से 50 हजार नकद ले लिये तथा बाकी अभी लेने थें।

अभी आरोपीयो से गहन पुछताछ के लिये पुलिस रिमान्ड लिया जावेंगा। जिसमे अन्य मामलो का खुलासा होने की भी संभावना है। पुलिस अधीक्षक पलवल के द्वारा इस मामले मे संलिप्त पुलिस कर्मचारीयो की विभागीय जांच के भी आदेश दिये गये है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।