स्थगनादेश के बावजूद भी कावड़ लेकर आने पर होना होगा क्वारंटीन, पैसा भी करना होगा स्वयं वहन-जिलाधिकारी
July 2nd, 2020 | Post by :- | 29 Views

यमुनानगर,(सुरेश अंसल)। स्थगनादेश के बाद भी  सावन मे भक्त जन कावड़ यात्रा में शामिल होकर हरिद्वार से जल लेकर आते है। इस बार कोरोना के चलते नियमों में बदलाव किया गया है। इसको लेकर कई जिलों के अधिकारियों ने जिले में बैठक की। कावड़ यात्रा को लेकर निर्णय लिया गया कि जो भी कांवड़ यात्रा के लिए हरिद्वार पहुंचे तो उन्हें14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाएगा जिसका पैसा  ‌भी खुद वहन करना  होगा।
कावड़ यात्रा को कोविड-19 के चलते चलते स्थगित करने के सरकार के फैसले को पूरी तरीके से अमल मे लाने के लिए हरिद्वार जिला प्रशासन ने यूपी के बिजनौर, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और हरियाणा के यमुनानगर के जिला अधिकारियों और एसएसपी अफसरों के साथ बैठक की।

बइस बैठक में कावड़ यात्रा पर आने के लिए किसी को भी अनुमति ना दिए जाने पर सहमति बनी और जो लोग बिना अनुमति के कावड़ के लिए हरिद्वार पहुंचेंगे, उनको हरिद्वार में 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया जाएगा यही नहीं इन 14 के लिए रहने का सारा खर्चा खुद उसी व्यक्ति को देना होगा। यानी ये पेड़ क्वारंटीन होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।