चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक मान्य नहीं,पं,जयशंकर जोशी
July 2nd, 2020 | Post by :- | 104 Views

चंडीगढ़ (मनोज शर्मा) पं,जयशंकर जोशी का कहना है कि 5 जुलाई को लगने वाले चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं है. यह ग्रहण तो उपछाया ग्रहण है. उपछाया ग्रहण का सूतक नहीं लगता है. भोजन और पूजा आदि कार्य किए जा सकते हैं. लेकिन गर्भवती महिलाएं विशेष ध्यान रखें और नियमों का पालन करें.

चंद्र ग्रहण: समय
उपच्छाया से पहला स्पर्श: 08:38 प्रात:
परमग्रास चन्द्र ग्रहण: 09:59 प्रात:
उपच्छाया से अन्तिम स्पर्श: 11:21 प्रात:
ग्रहण अवधि: 02 घण्टे 43 मिनट 24 सेकेंड

पं,जयशंकर जोशी के अनुसार आषाढ़ महीने की पूर्णिमा तिथि 5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ होगा।
लगातार तीसरा साल है जब गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लगेगा देश में गुरु पूर्णिमा का त्योहार बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है 5 जुलाई को लगने वाला यह चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है उपछाया चंद्र ग्रहण में मात्र चंद्रमा पर पृथ्वी की छाया पड़ेगा ग्रहण का प्रभाव और सूतक काल मान्य नहीं होगा ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।