डीजीपी रैंक में सेवानिवृत्त हुए हरियाणा के दो आईपीएस अधिकारी
July 1st, 2020 | Post by :- | 35 Views

चंडीगढ़, 1 जुलाई (विजय) – हरियाणा पुलिस में डीजीपी रैंक से दो आईपीएस अधिकारी 33 वर्षों से अधिक की उत्कृष्ट सेवाओं के बाद 30 जून को सेवानिवृत्त हुए। रिटायर होने अधिकारियों में डॉ के.पी. सिंह और श्री के.के. मिश्रा शामिल हैं।
उनके सम्मान में, हरियाणा पुलिस मुख्यालय में एक विदाई बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें हरियाणा पुलिस महानिदेशक श्री मनोज यादव, डीजीपी श्री पी.के. अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) श्री नवदीप सिंह विर्क, एडीजीपी सीआईडी श्री अनिल कुमार राव, एडीजीपी श्रीकांत जाधव, आईजीपी सौरभ सिंह और पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने भागेदारी की।
इस अवसर पर डीजीपी हरियाणा श्री मनोज यादव और पुलिस के अन्य सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने सेवानिवृत्त हुए दोनों अधिकारियों का अभिनंदन किया। श्री यादव ने दोनों अधिकारियों को बहुआयामी प्रतिभा का धनी बताते हुए उनकी सेवाओं की प्रशंसा की तथा हरियाणा पुलिस में एक शानदार व सफल करियर के लिए बधाई व शुभकामनाएं देते हुए उनकी दीर्घायु की कामना की।

डॉ0 केपी सिंह, फिलहाल डीजीपी, राज्य सतर्कता ब्यूरो, पंचकुला के पद पर तैनात थे। इससे पहले वे 13.04.2016 से 27.04.2017 और 01.02.2019 से 21.02.2019 तक दो बार प्रदेश पुलिस प्रमुख रह चुके हैं। मूल रूप से जिला सहारनपुर उत्तरप्रदेश निवासी डॉ0 सिंह 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्होने अपनी 35 वर्षों की सेवा के दौरान विभिन्न पदों पर रहते हुए सराहनीय सेवाएं प्रदान की। उत्कृष्ट सेवाओं और कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए उन्हें 2016 में पुलिस पदक से अलंकृत किया गया।

इसी प्रकार, 1987 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी श्री के.के. मिश्रा, हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन में प्रबंध निदेशक के पद से रिटायर हुए हैं। मूल रूप से बिहार के रहने वाले श्री मिश्रा ने 33 वर्षों तक विभिन्न पदों पर रहते हुए हरियाणा पुलिस में सेवाएं दी। श्री मिश्रा को 2004 में पुलिस पदक और 2014 में राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।