जीवन से प्यार करना एक डॉक्टर ही सिखा सकता है : डॉ. ब्रह्मदीप सिंह
July 1st, 2020 | Post by :- | 152 Views

होडल, (मधुसूदन भारद्वाज),प्रत्येक वर्ष एक जुलाई को हमारे जीवन में चिकित्सकों के महत्व और मानव जाति के कल्याण में उनकी भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस 2020 भी जीवन बचाने में उनके अमूल्य योगदान के लिए डॉक्टरों के प्रति आभार व्यक्त करता है। इस वर्ष राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस 2020 का महत्व और बढ़ गया है क्योंकि यह दिवस तब मनाया जा रहा है जब हर डॉक्टर कोरोनो महामारी से लडऩे के लिए अपना शत प्रतिशत दे रहा है और इस दौरान उनका अमूल्य योगदान लोगों को इस भयानक संक्रमण से उबारने के लिए है।

सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने सभी डॉक्टरों को हैप्पी डॉक्टर्स-डे कहकर विश किया और कहा कि डॉक्टर हमेशा अपने मरीजों को पहले रखते हैं और अपने मरीजों को स्वास्थ्य उपहार देने की पूरी कोशिश करते हैं। डॉक्टर वह है जो मरीज को कयामत होने पर आशा दे सकता है। डॉक्टर दिवस 2020 के अवसर पर सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने नागरिक अस्पताल में सभी डॉक्टर्स को हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स जीवनभर जी-तोड़ मेहनत करता है और मरीजों के दर्द को अपना समझकर उनका ईलाज करते है। उन्होंने पलवल जिले के सभी डॉक्टर्स का मनोबल बढ़ाते हुए कहा की कोविड-19 महामारी में भी सभी डॉक्टर्स का काम बहुत सरहनीय है। सभी बहुत महेनत कर रहे है। उन्होंने कहा कि मरीजों की आंखों में जब आंसू होते हैं तो उस समय डॉक्टर कंधे का कार्य करते हैं। जब दर्द होता है, तब आप एक दवा हैं। जब कोई त्रासदी होती है, तो आप एक उम्मीद होते हैं।

डॉक्टर्स-डे के अवसर पर डॉ. ब्रह्मदीप ने सभी डॉक्टर्स का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि कोरोना जैसी महामारी में भी अपनी व अपने परिवार की जान की परवाह ना करते हुए, हमेशा मरीजों के लिए बने रहने के लिए, खुशी के साथ मरीजों की सेवा करने और समस्याओं के इलाज के लिए आपका आभार व्यक्त करता हूं। आपके कर्म हमें गर्व का अनुभव कराते हैं। दुनिया की महामारी में लोगों को बचाने के लिए डॉक्टर सच्चे योद्धा हैं। हम एक चिकित्सक से अधिक मित्र हैं और मार्गदर्शक भी हैं। दवाएं बीमारियों को और डॉक्टर रोगियों को ठीक कर करते हैं। डॉक्टर दिवस हम सभी के लिए एक अनुस्मारक है जो कुछ समय निकालकर उन डॉक्टरों की सराहना करता है, जिन्होंने अपना सारा जीवन लोगों की सेवा में लगा दिया।

आयुष विभाग द्वारा गिलोय, घनवटी एवं आयुष क्वाथ का वितरण किया जा रहा है

कोरोना के संक्रमण काल में कोविड-19 एवं अन्य बीमारियों से ग्रस्त कोमोर्बिड मरीजों जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, श्वास्रोगी, गुर्दे के रोगी को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए सिविल सर्जन डा. ब्रह्मïदीप सिंह के निर्देशानुसार आयुष विभाग ने कोमोर्बिड रोगियों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाली औषधियों एवं काढा का वितरण किया।
जिला आयुष अधिकारी डा. जसवीर आलावत ने बताया की कोमोर्बिड मरीजों को कोविड-19 के संक्रमण की चपेट में आने का खतरा अधिक होता है। इसलिए उपायुक्त के आदेशानुसार पलवल जिले में आयुष विभाग द्वारा गिलोय, घनवटी एवं आयुष क्वाथ का वितरण किया जा रहा है। इसके लिए प्रत्येक आयुष चिकित्सको की टीम को लगभग 20 गांव बांटे गए है, जो स्वास्थ्य विभाग की एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं की सहायता से सूचियों के अनुसार रोगियों तक औषधि वितरण करेंगी। उन्होंने सभी से अपील की है कि गिलोय एवं क्वाथ का निरंतर सेवन करें, जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढे और हम किसी भी प्रकार के संक्रमण से अपने शरीर को बचा सकें। उन्होंने बताया की अभी तक गावं फाजलपुर, अलावलपुर, घोड़ी, बहरोला आदि गांवों में औषधि वितरण की जा चुकी है। जिला कारागार और शुगर मिल पलवल में बुधवार को काढ़ा व गिलोय व घनवटी वितरण किया गया तथा उपस्थिति को योग व प्राणायाम से अपनी दिनचर्या की शुरुआत करने के लिए प्ररित किया गया। जिला आयुष अधिकारी ने बताया की इस कार्य में जिला प्रशासन एवं सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप का पूरा सहयोग मिल रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।