बगैर मास्क वालों पर प्रशासन ने ठोका जुर्माना,लोगों ने इसे जजिया कर बताकर जताया भारी रोष।
July 1st, 2020 | Post by :- | 23 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत मुल्तानी )
कस्बा में बगैर मास्क वालों पर आज प्रशासन की अलग अलग टीमों ने जुर्माना ठोका। एस डी एम बराड़ा ने खुद पुलिस बल को साथ लेकर बगैर मास्क वालों के चालान काटे। वहीं दूसरी तरफ नपा सचिव ने भी बराड़ा मुख्य बाजार में बगैर मास्क के बैठे हुऐ दुकानदारों के चालान काटे। और 500 से 1000 रुपये तक जुर्माना ठोका।
जुर्माने से लोगों में रोष-प्रशासन की विभन्न टीमों द्वारा ठोके गये जुर्माने से लोगों में काफी गुस्सा भी देखने को मिला। मंदी की हालत से गुजरते हुए लोंगो ने इसे सरकार का तुगलकी फरमान बताया। दुकानदारों का कहना था कि इस समय मंदी चरम पर है। किसी की जेब मे पैसा नही दिखाई देता । इसपे सरकार नकद जुर्माना ठोक रही है। प्रशासन को नकद जुर्माने की जगह चेतावनी देकर बग़ैर मास्क वालों को मास्क वितरित करने चाहिये। श्री रामलीला क्लब के प्रधान तेजेंद्र सिंह के अनुसार इतनी बुरी आर्थिक परेशानियों को झेल रहे लोगों पर नकद जुर्माना ठोककर सरकार,प्रशासन अब जनता को मारने पर तुल गई है। चाहिये तो मास्क वितरित करने मगर यहां भी आर्थिक चाबुक चला रही है। सरकार लोगों का अंग्रेजी शासन की तरह दमन कर रही है। कई कार में अकेले बैठे लोगों तक का चालान काट दिया गया है। ऐसे दुकानदार जिन्होंने पूरे दिन में बोहनी तक नही की है और बाजार की भारी मंदी झेल रहे है उनको हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया है। कई मजदूरों जिन्हें आजकल काम न मिलने से रोटी तक के लाले पड़े हुऐ हैं उन तक का 500 से 1 हजार का चालान काट दिया है। सरकार,प्रशासन की इस दमनकारी नीति से जनता में भारी असन्तोष की स्थिति है। इस बुरे वक्त में लोगों को राहत की बजाय जजिया कर लगाया जा रहा है। जनता को बिजली के बिलों, स्कूल फीस की मार, पेट्रोल, डीजल के बढ़े हुए रेट, को लेकर परेशान हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।