अखिल भारतीय विरोध दिवस 3 जुलाई को जन सेवा विभागों के कर्मचारी प्रदेश भर में करेंगे प्रर्दशन :- सुभाष लांबा
July 1st, 2020 | Post by :- | 219 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 01 जुलाई :-  सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के बेनर तले प्रदेश के विभिन्न विभागों के कर्मचारी अखिल भारतीय विरोध दिवस 3 जुलाई को प्रदेश भर में प्रर्दशन करेंगे। यह धोषणा सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने विडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए आयोजित जिला कमेटी की बैठक को सम्बोधित करते हुए की। जिला प्रधान राजेश शर्मा व सचिव योगेश शर्मा ने बताया कि तीन जुलाई को विरोध दिवस पर सभी विभागों में विरोध सभाएं आयोजित कर प्रर्दशन किए जाएंगे। प्रदर्शनों के बाद प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम मांगों का ज्ञापन उपायुक्त को सौंपा जाएगा।

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा ने कहा कि आज कर्मचारियों को दो मोर्चे पर लड़ना पड़ रहा है। एक तरफ कर्मचारी कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं और दूसरी तरफ सरकार की कर्मचारी विरोधी फैसलों के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज सरकार फ्रंडलाइन कोरोना योद्धा एनएचएम में कार्यरत डाक्टरों, नर्सिंग स्टाफ, एएनएम आदि पदों पर कार्यरत 14 हजार कर्मचारियों के अनुबंध नवीनीकरण में अनावश्यक शर्त लगाकर उन्हें आंदोलन करने पर मजबूर कर रही है।

उन्होंने कहा कि फ्रंटलाइन कोरोना योद्वाओं 11 हजार स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों को 30 सितंबर को नौकरी से निकालने का फरमान जारी कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 1983 पीटीआई सहित हजारों ठेका कर्मचारियों को सरकार लाकडाउन में नौकरी से निकाल चुकी है।

उन्होंने कहा कि इस प्रर्दशन में पुरानी पेंशन बहाल करने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, ठेका प्रथा समाप्त करने, श्रम कानूनों को खत्म करने, बिजली, रोड़वेज,  जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग (पब्लिक हैल्थ) आदि जन सेवा के विभागों का निजीकरण करने, पीटीआई सहित हजारों कर्मचारियों की छंटनी आदि मुद्दों को उठाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय विरोध दिवस देश की दस केन्द्रीय ट्रेड यूनियन और आल इंडिया स्टेट गवर्नमेंट इंप्लाईज फैडरेशन के संयुक्त आह्वान पर आयोजित किया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।