लखीमपुर महिला की मौत के बाद मरीजो को ताला लगाकर फरार हुये डाक्टर
June 29th, 2020 | Post by :- | 67 Views

लखीमपुर(पवन दीक्षित)

सीओ ने मौके पर पहुंच कर मरीजो को निकलवा कर सी एच सी में भर्ती करवाया|

पलिया नगर की दुधवा रोड स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल में महिला की मौत के बाद मृतका के परिजनों द्वारा हंगामा होता देख हॉस्पिटल का डॉक्टर अन्य पेसेंट भाग ना जाए इसको लेकर वार्ड में ताला लगाकर फरार हो गया था। दर्द से कराहने की आवाज पर मेन गेट में लगे ताले को जब खोलने के लिए सीओ ने हॉस्पिटल कर्मी से चाबी मांगी तो उसने सीओ को गोल-गोल बातें कर टरकाना शुरू कर दिया। जिसके बाद सीओ ने शख्त रवैया अपनाते हुए जब कर्मी को थप्पड़ जड़े तो उसने चाबी पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने महिलाओं को बाहर निकाल कर उन्हें सीएससी में भेजकर भर्ती कराया गया। बता दें कि पलिया शहर की दुधवा रोड पर स्थित केयर हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेंटर पर उस समय बवाल मच गया था जब इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई थी। महिला की मौत के बाद मृतका के परिजनों ने हॉस्पिटल के डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया था। इस बीच डॉक्टर अन्य भर्ती मरीज भाग ना सकें इसको लेकर अन्य कमरे में गंभीर रूप से भर्ती दो महिलाओं के कमरे के मुख्य द्वार पर ताला लगाकर फरार हो गया था। हंगामे की सूचना के

बाद जब सीओ कुलदीप कुकरेती हॉस्पिटल पहुंचे और कैद महिलाओं के दर्द से करहाने की आवाज सुनी तो उन्होंने मौजूद कर्मी से कई बार चाबी के बाबत पूछा। इस पर कर्मी उनसे लगातार टालमटोल करने लगा। महिलाओं की जान जोखिम में देख सीओ कुलदीप कुकरेती ने शख्ति बरतते हुए कर्मी के दो थप्पड़ जड़े जिसके बाद कर्मी ने उन्हें तुरंत चाबी निकाल कर दे दी। सीओ ने तुरंत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के वाहन से पीड़ित महिलाओं को सीएचसी में भर्ती कराया जिससे उनकी जान बच सकी। सीओ के इस कार्य की जहां लोगों ने जमकर सराहना की वहीं मौजूद कुछ

लोग पूरे मामले को समझ ना सके और अच्छे कार्य को बुरे ढंग से सोशल मीडिया पर अपलोड करने लगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।