जिला खेल अधिकारी का कार्यालय एक सप्ताह में नवनिर्मित खेल सुविधा केन्द्र में होगा शिफ्ट।
June 27th, 2020 | Post by :- | 21 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। शहर के कर्ण स्टेडियम में शनिवार को उपायुक्त निशांत कुमार यादव के दौरे के दौरान तय हुआ कि जिला खेल अधिकारी का कार्यालय, अगले एक सप्ताह में स्टेडियम परिसर में नवनिर्मित स्पोट्र्स फैसीलिटी सेंटर यानि खेल सुविधा केन्द्र में शिफ्ट होगा। सुविधाओं की दृष्टि से अपर्याप्त साबित हो रहे पुराने खेल कार्यालय की मरम्मत करवाई जाएगी, मुख्य गेट व बाल भवन के साथ लगते गेट को स्टेनलेस स्टील से बनाया जाएगा।

शिफ्टिंग के लिए उपायुक्त ने मौके पर मौजूद जिला खेल अधिकारी सुबे सिंह को निर्देश दिए। दौरे के दौरान उपायुक्त ने जिला खेल अधिकारी की ओर से बताई गई सीवरेज, रेन वाटर हार्वेस्टर, महिला शौचालय की मरम्मत, स्वीमिंग पूल के जल की निकासी लाईन लेकर मेन लाईन से जोडऩे तथा लाईटों का दुरूस्त करने जैसी छोटी-छोटी समस्याओं का मौके पर ही समाधान कर दिया। जिला खेल अधिकारी की मांग पर उन्होंने कहा कि भंडार गृह के शैड का विस्तार, इंटरलॉकिंग के कार्य, बॉक्सिंग व टेबल टेनिस हाल का निर्माण भी करवाया जाएगा।

उपायुक्त ने सबसे पहले खेल कार्यालय के आगे से गुजर रही सीवरेज लाईन का निरीक्षण किया। इसका एक हिस्सा कीचड से चौक था। उपायुक्त ने मौके पर मौजूद नगर निगम के इंजीनियरों को निर्देश दिए कि वे इसकी सफाई करवा दें और कहा कि पूरी लाईन की सफाई हो। खास बात यह रही कि उपायुक्त से निर्देश मिलते ही सीवरेज लाईनो की सफाई का काम शुरू हो गया, जो शनिवार शाम तक ही पूरा करने की बात कही गई। जबकि रेन वाटर हार्वेस्टर की सफाई और उसे मेन सीवरेज लाईन से जोडऩे का काम भी अगले कुछ दिनो में मुकम्मल करने के निर्देश दिए गए।

इसके पश्चात उपायुक्त ने नवनिर्मित स्पोट्स फैसीलिटी सेंटर का दौरा किया। खेल अधिकारी की ओर से बताया गया था कि नए भवन में मुख्य गेट, दरवाजे व खिड़कियों की जाली के टूटने जैसी कई खामियां हैं, लेकिन मौके पर कोई बड़ी खामी नहीं दिखाई दी। अलबत्ता लोक निर्माण विभाग की ओर से पुराने प्रवेश द्वार को हटाकर मौके पर ही स्टील निर्मित नया गेट लगाया जा रहा था। छोटी-छोटी खामियों को दूर करने के लिए उपायुक्त ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को जल्द से जल्द ठीक करने के निर्देश दिए।

करीब सवा 3 करोड़ रूपये की लागत से तैयार तिमंजिले भवन को 12 हजार वर्ग फीट में तैयार किया गया है। इसमें स्टोर, खेल कोच के कमरे, जिला खेल अधिकारी का कार्यालय व स्टोर जैसी सभी सुविधाएं मौजूद हैं। खेल सुविधा केन्द्र को देखने के बाद उपायुक्त ने कर्ण गेट स्टेडियम के प्रवेश द्वार के साथ लगती खाली पड़ी जगह का निरीक्षण। खेल अधिकारी व कोच की मांग पर उन्होंने कहा कि यहां बॉक्सिंग की प्रैक्टिस के लिए हाल बनवाया जाएगा।

इसी प्रकार पुराने भवन के साथ सटे केन्द्रीय भंडार में जिम उपकरण रखे हुए थे, ऐसे सामान की हिफाजत के लिए उपायुक्त ने निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि मौजूदा भंडार गृह शैड का विस्तार किया जाए। उपायुक्त ने इसके पश्चात टेबल टेनिस हाल और स्वीमिंग पुल के साथ लगती खाली जगह का निरीक्षण किया। उन्होंने इस जगह पर इंटरलॉकिंग टाईलें लगाने के लिए नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि टेबल टेनिस कोर्ट का पुर्ननिर्माण भी करवाया जाएगा। उपायुक्त ने महिला शौचालय का निरीक्षण किया और निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसकी छोटी-मोटी मरम्मत की जाए। महिला शौचालय के आगे स्थित रेन हार्वेस्टर की सफाई कर उसे मेन लाईन से जोडऩे के लिए उन्होंने नगर निगम अधिकारियों को निर्देश दिए।स्वीपिंग पूल से पानी की निकासी की समस्या का समाधान करते हुए उपायुक्त ने निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक पीवीसी लाईन लेकर इसे सिंथेटिक ट्रैक के साथ लगती ड्रेन से जोड़ दिया जाए।

उन्होंने निगम अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शहर की विभिन्न लोकेशन पर नए रेन वाटर हार्वेस्टर बनाए जाने हैं, उनमें से चार हार्वेस्टर कर्ण स्टेडियम परिसर में बनाए जाएं। सिंथेटिक ट्रैक के चारो और लगाइ गई हाई मास्ट लाईटों को चालू करने के लिए उपायुक्त ने लोक निर्माण विभाग की इलैक्ट्रिक शाखा के कार्यकारी अभियंता के लिए निर्देश दिए कि वे इसे जल्द से जल्द चालू करें।

उपायुक्त के दौरे में पी.डब्ल्यू.डी. के एक्सईएन राज कुमार नैन, नगर निगम की ओर से एई सुनील भल्ला, जेई सुशील शर्मा व लक्ष्य शर्मा तथा खेल विभाग के विभिन्न कोच उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।