आकाशीय बिजली से पांच लोगों की गई जान, पांच लोग झुलसे अस्पताल में चल रहा इलाज
June 26th, 2020 | Post by :- | 40 Views

प्रयागराज। आसमान में बादल तो पिछले कई दिनों से छाए हुए हैं। कभी रिमझिम तो कभी झमाझम बारिश भी हो रही है। बारिश के बीच आसमान से कई जगह गिरी बिजली ने तो गुरुवार को कहर ढा दिया। वज्रपात से जनपद में एक बालिका सहित पांच लोगों की मौत हो गई। जबकि पांच लोग झुलस गए। उनके अस्पतालों में इलाज हो रहा है। आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं करछना, खीरी, मांडा, जारी क्षेत्र में हुई।

करछना में आकाशीय बिजली ने दो की जान ली

करछना के तेवतिया गांव में बारिश के दौरान वज्रपात की चपेट में आने से इंद्रराज पटेल के बेटे विनीत (17) और विशंभर पटेल के बेटे आशीष (20) की मौत हो गई, जबकि सुधीर कुमार, विकास और रितिका झुलस गए। उन्हें सीएचसी करछना में भर्ती कराया गया। मृतक विनीत पांच लोगों में चौथे नंबर पर था। झूलासा बालक विकास उसका भाई है। दोनों भाई तीन अन्य बच्चों को बारिश के दौरान बाग में आम बीन रहे थे। ग्रामीणों ने तहसील प्रशासन से आपदा राहत मुआवजे की मांग की तो पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद विधिक प्रक्रिया के तहत सहायता दिलाने की बात कही। हल्का लेखपाल नागेंद्र मिश्रा ने भी घटना की जानकारी के बारे में तहसील प्रशासन को अवगत कराया। मंदंडा संसू के अनुसार, टिकारी गांव निवासी बैजू का 30 वर्षीय पुत्र रमेश कुमार उर्फ ​​पंचू मजदूर था। तेज बारिश के दौरान मकान की छत पर जमा पानी निकालते वक्त गिरे वज्रपात की चपेट में आकर झुलस गया। आनन-फानन में स्वजन उसे सीएचसी मंडा ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। खबर घर पहुंची तो पत्नी सरिता, बेटी रेशमा और बेटे हिमांशु व छोटू की रो-रो कर हालत खराब हो गई। इसी क्रम में कौंधियारा थाना इलाके के गढ़ैया खुर्द गांव में रंजय कुशवाहा पड़ोसी मेवा कुशवाहा के साथ अपने खेत में बेहन की निगरानी कर रहे हैं। था। उसी समय तेज गडग़ड़ाहट के साथ वज्रपात हुआ। इसमें रंजय की मौत हो गई जबकि मेवा कुशवाहा गंभीर रूप से झुलस गया। वहीं खीरी थाना क्षेत्र में ग्राम पंचायत पच्छाहटा के बिसौरा में बारिश के दौरान कमलेश आदिवासी और उसकी पुत्री रिंशी वज्रपात से झुलस गए। स्वजन दोनों को अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन रिंशी ने रास्ता में दम तोड़ दिया। कमलेश आदिवासी की हालत नाजुक है। बेटी रेशमा और बेटे हिमांशु व छोटू की रो-रो कर हालत खराब हो गई। इसी क्रम में कौंधियारा थाना इलाके के गढ़ैया खुर्द गांव में रंजय कुशवाहा पड़ोसी मेवा कुशवाहा के साथ अपने खेत में बेहन की निगरानी कर रहा था। उसी समय तेज गडग़ड़ाहट के साथ वज्रपात हुआ। इसमें रंजय की मौत हो गई जबकि मेवा कुशवाहा गंभीर रूप से झुलस गया। वहीं खीरी थाना क्षेत्र में ग्राम पंचायत पच्छाहटा के बिसौरा में बारिश के दौरान कमलेश आदिवासी और उसकी पुत्री रिंशी प्रकाशकृपाल से झुलस गए। स्वजन दोनों को अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन रिंशी ने रास्ता में दम तोड़ दिया। कमलेश आदिवासी की हालत नाजुक है। बेटी रेशमा और बेटे हिमांशु व छोटू की रो-रो कर हालत खराब हो गई। इसी क्रम में कौंधियारा थाना इलाके के गढ़ैया खुर्द गांव में रंजय कुशवाहा पड़ोसी मेवा कुशवाहा के साथ अपने खेत में बेहन की निगरानी कर रहा था। उसी समय तेज गडग़ड़ाहट के साथ वज्रपात हुआ। इसमें रंजय की मौत हो गई जबकि मेवा कुशवाहा गंभीर रूप से झुलस गया। वहीं खीरी थाना क्षेत्र में ग्राम पंचायत पच्छाहटा के बिसौरा में बारिश के दौरान कमलेश आदिवासी और उसकी पुत्री रिंशी प्रकाशकृपाल से झुलस गए। स्वजन दोनों को अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन रिंशी ने रास्ता में दम तोड़ दिया। कमलेश आदिवासी की हालत नाजुक है। दिया। कमलेश आदिवासी की हालत नाजुक है। दिया। कमलेश आदिवासी की हालत नाजुक है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।