आयुष विभाग के चिकित्सकों और एम्बुलेंस स्टाफ को दी स्वास्थ्य विभाग ने ट्रैनिंग
June 26th, 2020 | Post by :- | 28 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  आयुष विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग में कोरोना महामारी के दौरान बेहतर तालमेल बना रहे और मजबूती से कोरोना से निपटने के लिए दोनों विभाग अपनी – अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाएं। इसके लिए अल आफ़िया सामान्य अस्पताल मांडीखेड़ा में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयुष विभाग के चिकित्सकों को ट्रेनिंग दी गई । इसके अलावा कोरोना मरीजों लाने ले जाने के काम में लगी एंबुलेंस के चालकों तथा ईएमटी स्टॉप को प्रशिक्षण दिया गया । कुल मिलाकर कोरोना वारियर्स ना केवल खुद इस बीमारी से बचे रहें बल्कि लोगों को भी इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दें । इसके लिए यह बैठक आयोजित की जा रही है । जिला नॉडल अधिकारी एवं डिप्टी सिविल सर्जन डॉ अरविंद कुमार ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना महामारी में पिछले तीन महीने से कोरोना योद्धा जुटे हुए हैं । इस दौरान कोई रिवाइज संयुक्त बैठक नहीं हुई है । आयुष विभाग अपने तरीके से स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर कोरोना मरीजों के इलाज में जुटा हुआ है , तो स्वास्थ्य विभाग अपने काम को बखूबी अंजाम दे रहा है । उन्होंने कहा कि एंबुलेंस के चालक के अलावा उनके साथ इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन (ईएमटी) स्टाफ को भी कोरोना निपटने के अलावा कोरोना में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों के बारे में जानकारी दी जा रही है। जिला नोडल अधिकारी ने कहा कि समय – समय पर नई गाइडलाइन कोरोना को लेकर आती रहती है । स्वास्थ्य विभाग के पास ही आती हैं । उसके बारे में भी आयुष विभाग के डॉक्टरों को जानकारी देना जरूरी है । कई मामलों पर पुनर्विचार करने के लिए इस तरह की बैठक का आयोजन किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि वीरवार को हो रही इस बैठक में आयुष विभाग के 38 डॉक्टरों के अलावा 10 एंबुलेंस चालक एवं 10 ईएमटी स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जा रहा है ।इसके अलावा शुक्रवार को भी एंबुलेंस स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा । कुल मिलाकर कोरोना वायरस से मजबूती से निपटने तथा इससे जंग जीतने के लिए स्वास्थ्य विभाग एवं आयुष विभाग ने पूरी तरह से कमर कसी हुई है। शायद यही वजह है कि अब तक जिले में कोरोना की वजह से एक भी मरीज की जान नहीं गई है । अधिकतर मरीज यहां स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं । आगे भी स्वास्थ्य विभाग तथा आयुष विभाग का कामकाज लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरे । इसको लेकर समय – समय पर प्रशिक्षण दिया जाता है । कुल मिलाकर कोरोना महामारी से अब लोगों को घबराने की नहीं बल्कि जागरूक होने की जरूरत है । इसके साथ – साथ कोरोना वॉरियर्स का सहयोग करना जरूरी है। तभी जाकर इस जानलेवा बीमारी से जंग जीती जा सकती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।