बीकानेर के युवाओं की अनोखी पहल, एलएसी व एलओसी पर दुश्मन देशों से लोहा लेने को तैयार।
June 25th, 2020 | Post by :- | 63 Views

बीकानेर,(मनीष)। बीकानेर के युवाओं की अनोखी पहल, एलएसी व एलओसी पर दुश्मन देशों से लोहा लेने को तैयार। अपने देेेश के सैनिकों के साथ मिलकर दुश्मन देशों से लड़ने को तैयार इन 100 युवाओं ने आज युवा एकता मंच बीकानेर केे अध्यक्ष व उपाध्यक्ष एवं समाजसेवी मोनू मोदी और श्याम मोदी के नेतृत्व में भारत माता के जयकारों के साथ हाथ में तिरंगा लेकर जिला कलक्टर कार्यालय पहुंचकर जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केे नाम ज्ञापन सौंपा है ।

युवा एकता मंच के अध्यक्ष मोनू मोदी व उपाध्यक्ष श्याम मोदी ने बताया कि भारत के सैनिकों पर कई बार एलओसी व एलएसी बॉर्डर पर कायराना हमला हो चुका है। जिसमें हमारे भारत के सैनिक मातृभूमि के लिए लड़ते – लड़ते वीरगति को प्राप्त हो गए,जिसके चलते सभी युवाओं में आक्रोश है। इसलिए युवाओं द्वारा जिला कलक्टर को प्रधानमंत्री के नाम सौंपा गया है। और शपथ पत्र के माध्यम से कहा गया है कि यदि चीन या पाकिस्तान के साथ युद्ध की संभावनाएं बनती है तो हम प्रार्थीगण व हमारी टीम के 100 युवा पूर्ण निष्ठा,राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए भारत देश के सैनिकों के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर भारतमाता के लिए गोली मारने – गोली खाने के साथ साथ मातृभूमि के लिए अपने प्राणों की आहुतियां देने के लिए तैयार है । ज्ञापन में प्रधानमंत्री जी से आग्रह किया है कि यदि इस प्रकार की परिस्थितियां बनती है तो हम 100 युवा साथियों के साथ हमें यह मौका प्रदान किया जाए जिससे भारत के सैनिकों के साथ खड़े रहकर उनका मनोबल बढ़ाने के लिए हमारी युवा टीम के सार्थी भारत के नौजवानों के साथ अपने बलिदानों की आहुति देने के लिए बॉर्डर पर जा सके। ज्ञापन देने वालों में मेघराज सोनी , तनवीर वीर सिपाही , रतननाथ , रिम्मी कोडा , डुकसा राजपुरोहित , लीलाधर , शिव सोनी , मुकेश मोदी , जग्गी भाई , सद्दाम भुट्टा , अजय सिंह , कैलाश पाण्डिया , प्रवीण सिंह सहित अधिक संख्या में युवा उपस्थित रहे।  मोदी अलावा मोनू मोदी व श्याम मोदी ने सभी नागरिकों से चाईना के उत्पादों का बहिष्कार कर भारत देश को आत्मनिर्भर बनाने का आग्रह भी किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।