नशा सभी अपराधों की जड है , जीवन में कामयाब होना है तो युवा रहें नशा से दूर : एसपी
June 24th, 2020 | Post by :- | 31 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।   नरेंद्र सिंह बिजारनियां एसपी नूह द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस के सम्बन्ध में नशा मुक्ति सप्ताह के रुप में मनाया जा रहा है । इस दौरान जिला पुलिस के सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिये गये हैं कि वह अपने – अपने थाना क्षेत्र में अलग – अलग तरीके से आमजन को नशा ना करने बारे जागरुक करें । सामाजिक संगठनों , बस स्टेंडों, टैक्सी स्टेंडों व सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को नशा से दूर रहने तथा नशा से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाए । पुलिस अधीक्षक नूह की तरफ से सभी उप पुलिस अधीक्षक , प्रबन्धक थाना , चौकी प्रभारियों को निर्देश दिये गये हैं कि आगामी 26 जून को विश्व एंटी ड्रग डे के रुप में मनाया जायेगा । आमजन खासकर युवा पीढ़ी को नशे से होने वाले शारीरिक तथा वित्तीय दुष्प्रभावों के बारे में विस्तार से समझाया जाए । एसपी नूह ने कहा कि नशा ही सभी प्रकार के अपराधों की जड है । आज के युवा यदि अपने जीवन में कामयाब होना चाहते हैं , तो उन्हें नशे से दूर रहना होगा । नशा करने वाला व्यक्ति ही नहीं बल्कि उसका पूरा परिवार पतन की ओर बढता चला जाता है । नशा एक ऐसी लत है , जिसे छोडना मुश्किल तो है , लेकिन नामुमकिन नहीं । यदि आम नागरिक इसके प्रति जागरुक होगा तो नशे की दलदल से बाहर निकला जा सकता है । देश को केवल कानून के द्वारा नशा मुक्त नहीं किया जा सकता । एसपी बोले कि स्वास्थ्य विभाग का भी कर्तव्य बनता है कि जीवन रक्षक औषधियों के रुप में प्रयोग होने वाली औषधियों का प्रयोग केवल चिकित्सक के परामर्शानुसार ही किया जाए । प्राय: देखने में आता है कि कुछ जीवन रक्षक औषधियों का अत्याधिक प्रयोग नशे के लिये किया जाता है । जिस पर सम्बन्धित विभाग द्वारा समय – समय पर दवा विक्रेताओं को चौक करके उनके विरुद्ध नियमानुसार कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए , ताकि नशा में संलिप्त लोगों को नशा पूर्ति करने में मुश्किल आए । पुलिस कप्तान ने कहा कि आज के युग में अभिभावकों का कर्तव्य है कि वह अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने के साथ – साथ उनकी दैनिक गतिविधियों पर भी ध्यान रखें तथा आम नागरिकों का भी यह नैतिक कर्तव्य है कि वे अपने आस पास नशे के कारोबार में लगे लोगों पर नजर रखें । कानून चाहे कितना भी सख्त क्यों ना हो , आम जनता के सहयोग के बिना किसी काम का नहीं है । नशा देश को लकडी के घुन की तरह बर्बाद कर रहा है । नशे के धन्धे में लगे लोगों पर आम नागरिकों की सहायता से ही रोक लगाई जा सकती है । नशा तस्कर ज्यादातर अवोध बालकों को ही अपना शिकार बनाते हैं , इसके अतिरिक्त झुग्गी – झोंपडी तथा गरीब लोगों को पैसे का लालच देकर उऩका प्रयोग करते हैं । पुलिस अधिकारियों / कर्मचारियों का भी कर्तव्य बनता है कि इस प्रकार के लोगों पर ज्यादा ध्यान दें तथा उन्हें समय – समय पर नशे के दुष्परिणामों से अवगत कराएं । खासकर युवा बच्चों को नशा की दलदल से दूर रखने का हरसंभव प्रयास किया जाना चाहिए ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।