कोई गरीब भूखा नही सोएगा
June 24th, 2020 | Post by :- | 22 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  कोरोना काल में कोई गरीब अब भूखे पेट नहीं सोएगा। जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक सीमा शर्मा ने जिले के सभी डिपो धारकों को समय पर गरीबों को राशन वितरण करने के निर्देश जारी किए हैं । अप्रैल माह से जून माह के अंत तक यह राशन बिल्कुल निशुल्क दिया जा रहा है । अगर किसी भी डिपो धारक ने नियमों का उल्लंघन किया और गरीबों का राशन डकारने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। सीमा शर्मा नियंत्रक ने बताया कि उन्हें जब भी किसी डिपो धारक की शिकायत मिलती है। उसकी तुरंत जांच कराई जाती है । उन्होंने कहा कि हाल ही में एक डिपू रद्द किया गया है , तो 1 डिपू की सप्लाई रोकी गई है । इसके अलावा बहुत से डिपो धारकों की जांच इन दिनों की जा रही है। जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक सीमा शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि एएवाई के जो राशन कार्ड हैं , उन पर 35 किलो प्रति राशनकार्ड गेहूं दिया जा रहा है ।चीनी , सरसों का तेल , दाल तथा नमक भी इस कार्ड पर दिया जा रहा है। इसके अलावा अगर बीपीएल कार्ड धारकों की बात करें तो प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं चीनी 1 किलो , सरसों का तेल , दाल , नमक दिया जा रहा है । ओपीएच राशन कार्ड पर 5 किलो प्रति व्यक्ति दिया जा रहा है , तो दाल का वितरण भी किया जा रहा है । अप्रैल से जून माह तक यह सभी सामान दिया जा रहा है । आम महीनों में प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं दिया जा रहा है , तो उसे फिलहाल डबल 10 किलो गेंहू दिया जा रहा है । सरकार की कोशिश यही है कि कोरोना काल मे लोग भूखे ना रहें। इसलिए सरकारी दुकान के माध्यम से सूखे सामान का वितरण किया जा रहा है। विभाग की डिपू धारकों पर पैनी नजर है , ताकि कोई भी व्यक्ति राशन लेने से वंचित ना रहे। कुल मिलाकर कोरोना काल में जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक विभाग ने गरीबों को राशन वितरण करने में बेहतरीन काम किया है । यही वजह रही है कि जिले में कोरोना काल में बहुत ही कम शिकायतें मिली हैं । विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी लगातार सरकारी राशन वितरण करने वाले डिपू धारकों के यहां विजिट करते रहते हैं । जैसे ही कहीं पर किसी प्रकार की कोई शिकायत आती है , तो उसका तुरंत समाधान किया जाता है। सबसे खास बात यह है कि सरकारी राशन की दुकानों पर जो राशन कम रेट में मिलता था , वह अब 3 महीने पूरी तरह से फ्री दिया जा रहा है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।