उपायुक्त ने कोरोना पॉजीटिव केस मिलने पर जिला में किए कंटेनमेंट जोन घोषित|
June 23rd, 2020 | Post by :- | 22 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 23 जून :- उपायुक्त नरेश नरवाल ने पलवल जिला में दया कॉलोनी में शमशान घाट के पीछे (माल गोदाम रोड) वार्ड नंबर-19, आईटीआई पलवल के नजदीक राधा कॉलोनी वार्ड नंबर-18, सदर थाना पलवल के पीछे क्वॉटर नंबर-13 वार्ड नबंर-12, झाबर नगर नजदीक त्रिपाठी लैंप एंड लाइट पलवल वार्ड नंबर-23, अग्रसेन कॉलोनी नजदीक बंसल नर्सिंग होम होडल तथा बिंदा पैलेस नजदीक भारत गैस एजेंसी बाबरी मोड होडल, पलवल के गांव कटेसरा में बस अड्डïे के पास (पहले से कंटेनमेंट जोन घोषित), होडल के गांव बंचारी, हथीन के गांव गढीविनोदा तथा गांव जीताखेडली में कोविड-19 पॉजीटिव केस मिलने पर संबंधित क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। जिला कंटेनमेंट प्लान (स्वास्थ्य विभाग) के प्रोटोकॉल के अनुसार इन क्षेत्रों में आवाजाही नियंत्रित कर दी गई है। साथ ही कोविड-19 संक्रमण से क्षेत्रवासियों के बचाव के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

उपायुक्त के जारी आदेशों के तहत दया कॉलोनी में शमशानघाट के पीछे (माल गोदाम रोड) वार्ड नंबर-19, आईटीआई पलवल के नजदीक राधा कॉलोनी वार्ड नंबर-18, सदर थाना पलवल के पीछे क्वॉटर नंबर-13 वार्ड नबंर-12, झाबर नगर नजदीक त्रिपाठी लैंप एंड लाइट पलवल वार्ड नंबर-23, अग्रसेन कॉलोनी नजदीक बंसल नर्सिंग होम होडल तथा बिंदा पैलेस नजदीक भारत गैस एजेंसी बाबरी मोड होडल क्षेत्र में पॉजीटिव केस मिलने पर कोविड-19 के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए पर्याप्त आशा व आंगनवाड़ी वर्कर की टीमें डोर टू डोर स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग करेंगी। इन क्षेत्र को पूर्णतया सेनेटाइज करने का कार्य संबंधित नगर परिषद की ओर से किया जाएगा। एक आंगनवाड़ी सुपरवाइजर तथा संबंधित क्षेत्र की सीडीपीओ की निगरानी में यह कार्य होगा। निर्धारित किए गए कंटेनमेंट व बफर जोन के लिए संबंधित उपमंडल के एसडीएम ओवरऑल मजिस्ट्रेट होंगे।

इसी प्रकार पलवल के गांव कटेसरा में बस अड्डïे के पास (पहले से कंटेनमेंट जोन घोषित), होडल के गांव बंचारी, हथीन के गांव गढीविनोदा तथा गांव जीताखेडली के लिए भी आशा व आंगनवाड़ी वर्कर की पर्याप्त टीमें डोर टू डोर स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग करेंगी। यह सभी टीम सिविल सर्जन के निर्देशन में कार्य करेंगी। वहीं संबंधित क्षेत्रों को पूर्णतया सेनेटाइज करने का कार्य संबंधित बीडीपीओ की ओर से किया जाएगा। एक आंगनवाड़ी सुपरवाइजर तथा संबंधित क्षेत्र की सीडीपीओ की निगरानी में यह कार्य होगा। घोषित किए गए कंटेनमेंट व बफर जोन के लिए संबंधित उपमंडल के एसडीएम ओवरऑल मजिस्ट्रेट होंगे।

कंटेनमेंट प्लान के अनुरूप सभी विभाग अपने-अपने कार्य करेंगे। स्वास्थ्य विभाग की ओर से संक्रमण से बचाव के लिए सभी आवश्यक कार्य किए जाएंगे। इन आदेशों का उल्लंघन करने वाले अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 56 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।