कॉमरेडिटी वाले व्यक्तियों की एक सूची तैयार, इसको  healthy app haryana से भी जोड़ा जाएगा।
June 23rd, 2020 | Post by :- | 52 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 23 जून :- जिलाधीश नरेश नरवाल ने बताया कि स्वास्थ विभाग पलवल द्वारा कॉमरेडिटी वाले व्यक्तियों की एक सूची तैयार की है। जिले में विशेष ध्यान रखने वाले ऐसे व्यक्तियों की देखभाल के लिए एक तंत्र विकसित किया जाना है। वहां लोगों को नियमित रूप से नागरिक और चिकित्सा कर्मियों द्वारा निरंतर निगरानी की जानी है। इसके अलावा पूरे जिले में बीमार रहने वाले व्यक्तियों की वार्डवार निगरानी भी रखी जाएगी। इसको  healthy app haryana से भी जोड़ा जाएगा।

जिलाधीश एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण पलवल के अध्यक्ष नरेश नरवाल ने आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 2, 30 और 34 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिला पलवल के अधिकार क्षेत्र में इन हिदायतों की कड़ाई से अनुपालन करने के आदेश जारी किए हैं ताकि इस वायरस के फैलाव से मानव जीवन को खतरा न हो।

जिलाधीश द्वारा जारी आदेशों के अंतर्गत गांव सचिव, एएनएम व आशा कार्यकर्ता को संबंधित गांव के लोगों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए है। इस कार्य में संबंधित वार्ड के पंच निगरानी और सहायता के लिए सहयोगी होंगे। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी उनकी सभी गतिविधियों के लिए संबंधित खंड में ऑवरऑल इंचार्ज होंगे।

इसी प्रकार नगर परिषद एवं नगर पालिका तथा कमेटी के अधिकारी पार्षद के सहयोग से वार्ड के ऐसे लोगों पर कड़ी निगरानी रखेंगे और संबंधित कार्यकारी अधिकारी व सचिव संबंधित क्षेत्र के ऑवरऑल इंचार्ज होंगे। संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी व सचिव इस कार्य की अनुपालना हेतु प्रत्येक व्यक्ति की जिम्मेदारी तय करने के लिए एक विस्तृत आदेश गांव वार एवं कॉलोनी वार जारी करेंगे, जिसका विवरण जिलाधीश को भेजना होगा। इसी तरह की व्यवस्था ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में लगातार यात्रियों की निगरानी सुनिश्चित की जाएगी। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, कार्यकारी अधिकारी, सचिव और डॉक्टर जो पहले से ही फील्ड में तैनात हैं, आयुष विभाग की अनुसूची के अनुसार संबंधित व्यक्तियों के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में किए जा रहे आयुर्वेद उपचार को सुनिश्चित करेंगे।

मोबाइल ओपीडी, नजदीकी अस्पताल, पीएचसी व सीएचसी किसी भी प्रकार की बीमारी के कॉल की प्राप्ति पर तुरंत प्रभाव से हर संभव मदद करेंगे। राष्टï्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी द्वारा प्रारूप में प्रविष्टियां शीघ्रता से करने और उनकी पुनप्र्राप्ति परेशानी मुक्त करने के लिए एक उपयुक्त लिंक विकसित किया जाएगा। सभी कॉमन सर्विस सेंटर्स को इन सेवाओं के लिए अपनी सुविधाओं को नि:शुल्क प्रदान करने के लिए निर्देशित किया गया है। इस कार्य की निगरानी के लिए अतिरिक्त उपायुक्त नोडल अधिकारी होंगे और इस कार्य की साप्ताहिक आधार पर प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।