नशे को जड़ से खत्म करने के लिए पुलिस, सामाजिक व समाजसेवी संस्थानों तथा आम जनता को आपस में सहयोग करके मिल कर करना होगा कार्य : एसपी शशांक कुमार सावन
June 23rd, 2020 | Post by :- | 22 Views

कैथल, लोकहित एक्सप्रैस, (ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी ) ।  दिनांक 26 जून को अंतरराष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस के दृष्टिगत पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के निर्देशानुसार कैथल पुलिस द्वारा डीएसपी मुख्यालय कुलवंत सिंह की देखरेख तहत नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान की शुरुआत की गई हैं। एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि अभियान के अंतर्गत समाज से नशे की बुराई को खत्म करने के लिए पुलिस, सामाजिक व समाजसेवी संस्थानों तथा आम जनता को आपस में सहयोग करके मिलकर करना कार्य करना होगा। अभियान के तहत कैथल में नशे के खिलाफ सेमिनार का आयोजन किया जायेगा, जिसमें पुलिस अधिकारियों डॉक्टर, समाज सेवी संगठन, एनजीओ नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।  एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि पहले अधिकांशत: राजस्थान पंजाब में नशा बिकता था लेकिन आज हरियाणा भी धीरे-धीरे नशे की गिरफत में आ गया है। उन्होंने बताया  कि 20 से 25 पर्सेंट बच्चे 18 से 22 साल उम्र में  नशे की लत का शिकार हो जाते हैं । युवाओं में नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए पुलिस, सामाजिक संस्थाएं व आम जनता को  मिलकर काम करना होगा तभी नशा मुक्त भविष्य का सपना साकार हो सकेगा। हमने नशे के खिलाफ दिनांक 20 जून से एक अभियान चलाया हुआ है जिसमें सामाजिक व समाजसेवी संस्थाए तथा आम जनता पुलिस का सहयोग करें। नशा पकडऩे के लिए पुलिस 24 घंटे तत्पर रहती है, जिसके दौरान पुलिस सहयोगी आमजन का नाम-पता भी गुप्त रखा जाता है। एसपी ने बताया कि जिला पुलिस ने नशे पर लगाम लगाने के लिए कड़े कदम उठाए है, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। जिला पुलिस द्वारा पिछले कुछ समय दौरान भारी मात्रा में नशा पकड़ा गया और काफी संख्या में नशे के कारोबार करने वाले अपराधियों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाया गया है। प्रत्येक पुलिस कर्मचारी व अधिकारी नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने जनता से आह्वान किया कि नशा बेचने वालों के बारे में कोई सूचना हो तो निसंकोच होकर पुलिस को सूचित करके सहयोग करे, उनका नामपता गुप्त रखा जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।