स्वदेशी जागरण मंच ने बददी में जलाया चाईना का पुतला
June 22nd, 2020 | Post by :- | 15 Views

– भारतीय सैनिकों पर अत्याचार करने वाले देश है….

– स्वदेशी अपनाओ चाइना का बहिष्कार….

भारत के पडोसी देश चाईना द्वारा हमारे देश के जवानों की वर्बरतापूर्ण की गई हत्या के बाद बददी स्वदेशी जागरण मंच ने जहां गददार देश चाईना का पुतला जलाया वहीं उसके विरुद्व जमकर नारेबाजी भी। साई रोड पर सोशल डिस्टेंसिग के साथ आयोजित हुए इस कार्यक्रम में लोगों ने प्रण लिया कि वह इस देश के निर्मित उत्पादों को कभी नहीं खरीदेंंगे। सामाजिक कार्यकर्ता राजेश जिंदल ने कहा कि सबसे पहले हम अपनी लोकल वस्तु खरीदेंगे और अगर नहीं मिलती तो बाहर जाएंगे और उसके बाद भी अगर नहीं मिलती तो भारत का उत्पाद ही लेंगे। उन्होने कहा कि अब मेड इन इंडिया नहीं बल्कि हम मेक बॉय इंडिया के नारे को बुलंद किया जाएगा। पंकज गुप्ता ने कहा कि अब समा बदल रहा है और देश का के लोग व युवा जाग चुके हैं। अब हर सामान भारत में बनने लगा है तो चाहे थोडा मंहगा भी हो हम उसी को खरीदेंगे। लाज मोटर्स के निदेशक महेश कौशल ने समस्त लोगों को चाईना के सामान का बहिष्कार करने की शपथ दिलाई। संयुक्त व्यापार मंडल के प्रधान संजीव कौशल ने दुकानदारों से आग्रह किया कि वह अपनी दुकानों में चाईना का सामान न रखें। उद्योगपति कुलवीर सिंह आर्य व सतपाल जस्सल ने कहा कि भारत बहुत सारी चीजों पर चाईना पर निर्भर है और दवा का कच्चा माल वहां से आता है। लेकिन अब भारत सरकार पूरे देश में बल्क ड्रग पार्क का निर्माण कर रहा है जिससे आस जगी है कि हमारी चाईना पे निर्भरता कम हो रही है। उन्होने कहा नालागढ़ में भी एक बल्क ड्रग का निर्माण हो रहा है जिसके लिए हम मोदी सरकार के आभारी हैं। मंच संचालन गोपाल सिंह ने किया और कहा कि स्वदेशी एक कार्यक्रम न होकर एक अभियान है जिसको हमने आगे से आगे पहुंचाना है। पार्षद संदीप सचेदवा ने कहा कि अकेला कोई कुछ नहीं कर सकता इसलिए हमें आपस में मिलकर देश समाज व राष्ट्र के हित में चाईना के देश की वस्तुओं का बॉयकाट करना ही होगा। इसमें लोगों को जागरुक करने के लिए हर स्तर विशेषकर सोशल मीडीया पर अभियान चलाना होगा। इस अवसर पर योग गुरु किशोर ठाकुर, डा श्रीकांत शर्मा, लघु उद्योग भारती के सतपाल जस्सल, विक्रम कौशल, हनुमान सिंह, हिंदू जागरण मंच के ऋषि ठाकुर, पंकज ठाकुर, अशोक ठाकुर, राजेश जिंदल, यशकर नाग, लव कौशल, महेश कौशल समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।