अप्रयोजित हत्या तक कर रहे नशे में धूत शहर के युवक, क्या प्रशासन लगा पाएगी प्रतिबंध ?
September 7th, 2019 | Post by :- | 140 Views

छत्तीसगढ़ (जगदलपुर) अरुण कुमार पाण्डेय । जगदलपुर शहर विश्व में अपने 75 दिनों तक चलने वाले दशहरे व नक्सलवाद के ही नाम पर नही बल्कि लगभग 2 दशकों से अवैध व मेडिकल नशा के कारोबार के लिए भी प्रसिद्धि बटोर रहा है।

शहर के किशोरावस्था के युवाओं को जगह जगह सुलोचन, आयोडेक्स, विक्स, फेविकॉल, थिनर, जैसे रसायनिक पदार्थों के अतिरिक्त कुछ मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जाने वाले प्रतिबंधित दवाओं का इस्तेमाल कर नशे में घूमते देखा जा सकता है।

ऐसा बिल्कुल भी नही कि यह नज़ारा किसी को नही दिखता या जगदलपुर के जिम्मेदार समाजसेवकों, प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों या पत्रकारों से यह सब छुपा हुआ है।

सभी को अच्छे से जानकारी हैकि शहर का एक युवावर्ग नशे की गिरफ़्त में फंसते ही जा रहा और उन्हें इस दलदल से निकालने का प्रयास आजतक किसी ने भी नही किया।

भागमभाग भरे जिंदगी में किसी को किसी के लिए समय भी नही है, पर इन्ही नशे की गिरफ़्त में आ रहे अधिकतर युवाओं द्वारा अपने जरूरतों को पूरा करने के लिए आपराधिक गतिविधियों की तरफ़ उनका रुझान स्वतः ही बढ़ने लगता है।

शहर में पुलिस व ज़िला प्रशासन भी रातभर घूमने वाले मनचलों के लिए नम्र दिखाई पड़ती है, जिस कारण नशा करते युवाओं की टोली सार्वजनिक स्थानों पर भी दिखाई दे जाती है।

शहर के कुम्हारपारा, पथरागुड़ा, परनारापार, बोधघाट, मेटगुड़ा, नया बस स्टैंड, गीदम रोड़, धरमपुरा व अन्य इलाके ऐसे प्रमुख स्थान हैं जहां इस तरह के युवाओं का उठना बैठना अधिकतर होता है।

बहरहाल शहर में हुए दो दिन पूर्व एक युवक की हत्या भी इस नशे के चक्कर में ही हुआ है।

मृतक के साथ उपस्थित प्रत्यक्षदर्शी उसके मित्र के अनुसार शहर के नया बस स्टैंड में 2 दिन पहले रात में हुए हत्या में तीसरा आरोपी भी आज पुलिस गिरफ्त में आ गया है, वही चौथे आरोपी की तलाश पुलिस कर रही है।

मामले के बारे में जानकारी देते हुए बोधघाट थाना प्रभारी सुरेंद्र बघेल ने बताया कि 2 दिन पहले अमीन शेख अपने दोस्तों के साथ बिल्लोरी से पार्टी मनाकर नया बस स्टैंड के पास बारिश से बचने के लिए छुपा हुआ था, की उसी दौरान उसका विवाद नशे की हालत में पहले से वहां बैठे युवाओं के साथ हुआ।

जिसमे वैभव जारी व वेद मोनो ने अमीन के ऊपर बियर की बोतल मारकर घायल कर दिया।

जिसके बाद उपचार के दौरान अमीन की मौत हो गई, इस घटना में 2 आरोपी सतवीर उर्फ बबले सरदार व डी किशोर भी शामिल थे।

जिसकी जानकारी लगने पर पुलिस आरोपी की तलाश कर रहे थे, इसी दौरान आज सतवीर अपनी मोटरसाइकिल में सवार होकर पुराना पुल की ओर से भाग रहा था, जिसे पुलिस ने पकड़ लिया, इस मामले में पुलिस ने अब तक 3 लोगो को गिरफ्तार तो कर लिया है।

पर सवाल यह उठता हैकि:

  • जिस घर का चिराग़ बुझ गया उनके माता – पिता व परिवार वालों को प्रशासन क्या जवाब देगी ?
  • क्या बिना किसी बदले की भावना या धन की लालच के ही अप्रयोजित हत्या जैसी वारदातों पर जगदलपुर पुलिस व ज़िला प्रशासन प्रतिबंध लगा पाएगी ?
  • क्या प्रशासन द्वारा नशेड़ियों के खिलाफ़ कोई ठोस कार्यवाही हेतु अभियान चलाया जाएगा ?
  • अवैध नशे के कारोबार पर प्रशासन द्वारा क्या कार्यवाही किया जावेगा, क्या शहर में रसायनिक नशों का बाजार ख़त्म कर पायेगी प्रशासन ?

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।