चारकुफरी में बनेगी आधुनिक सब्जी मंडी,मिलेगी सभी सुविधायें, मार्केटिंग बोर्ड के चैयरमैन ने किया निरीक्षण
September 7th, 2019 | Post by :- | 109 Views

मंडी,करसोग (मोहन शर्मा):- करसोग के किसानों और बागवानों के लिए राहत भरी खबर है। यहां चारकुफरी में हजारों किसानों और बागवानों के लिए जल्द ही अति आधुनिक सब्जी मंडी की सुविधा मिलेगी। इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। सरकार ने एफसीए की मंजूरी के लिए ऑनलाइन केस भेज दिया है। यहां से मंजूरी मिलते ही जल्द की सब्जी मंडी का निर्माण कार्य आरंभ किया जाएगा। शुक्रवार की हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के चेयरमैन बलदेव भंडारी ने चारकुफरी में प्रस्तावित सब्जी मंडी का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने चुराग स्थित टेंपरेरी सब्जी मंडी और करसोग में बन्द पड़ी सब्जी मंडी में भी जाकर स्थिति का जायजा लिया। करसोग में कई वर्षों से ऑक्शन के लिए बंद पड़ी सब्जी मंडी खंडहर में बदल गई है। मार्किटिंग बोर्ड के चेयरमैन ने लोगों को इन दोनों सब्जी मंडियों की हालत सुधारने का भी भरोसा दिया। इस अवसर पर करसोग के विधायक हीरा लाल, एपीएमसी मंडी के चेयरमैन दलीप सिंह सहित कई लोग उपस्थित थे।

13 बीघा जमीन का चयन:
चारकुफरी में 13 बीघा भूमि पर आधुनिक सब्जी मंडी का निर्माण होगा। इसके लिए 13 बीघा भूमि का चयन किया गया है। यहां ऑक्शन प्लेट फॉर्म के अलावा किसानों के ठहरने के लिए रेस्ट रूम की भी व्यवस्था होगी। इसके अतिरिक्त बाहरी मंडियों से आने वाले लदानियों के लिए भी ठहरने का प्रबंध रहेगा। इस सब्जी मंडी में सभी तरह की आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होगी। इसके अलावा चुराग में स्थित सब्जी मंडी की भी हालत सुधरेगी। प्राइवेट भूमि में चल रही इस सब्जी मंडी के लिए भूमि मालिक एनओसी देता है तो मंडी की और जाने वाली सड़क को पक्का किया जाएगा। इसके लिए मार्किटिंग बोर्ड 10 लाख की राशि खर्च करने को तैयार है। इसी तरह से करसोग में बंद पड़ी सब्जी मंडी को फिर शुरू किया जाएगा। कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद सब्जी मंडी के लिए सड़क और पुल का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए 2 करोड़ का एस्टीमेट तैयार किया गया है। सड़क और पुल निर्माण के लिए लीगों से जमीन उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया भी अब शुरू की जा रही है।

प्रोसेस शुरू हो गया है: भंडारी
हिमाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड के चेयरमैन बलदेव भंडारी का कहना है कि चारकुफरी में आधुनिक मंडी के निर्माण के लिए प्रोसेस शुरू हो गया है। एफसीए की मंजूरी के लिए ऑनलाइन केस भेज दिया गया है। यहां से स्वीकृति मिलने के बाद अगली प्रक्रिया शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि चुराग और करसोग सब्जी मंडी भी हालत सुधारी जाएगी। ताकि किसानों को किसी भी तरह की परेशानी न हो। इसके लिए फंड की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।