मुख्यमंत्री को क्षेत्र में बारिश से हुए नुकसान का संज्ञान लेकर मदद का आश्वासन देना चाहिए था :- वरुण चौधरी
August 19th, 2019 | Post by :- | 73 Views

अंबाला , मुलाना ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी ) ।
भारी बारिश के कारण मुलाना क्षेत्र के अधिकांश गांव में पानी भर जाने के कारण ग्रमीणों के जान माल को काफी नुकसान पहुंचा है । इस बारिश के कारण क्षेत्र के ग्रामीणों के घरों में दरारें आ गई । गांवों के आम रास्ते खराब हो गए। जोहड़ तालाब पानी से भर गए। किसानों की हजारों एकड़ फ़सल नष्ट हो गई गरीब,किसान सभी बारिश के कारण हुए नुकसान से दुखी हैं। और मुख्यमंत्री अपनी जनआशीर्वाद यात्रा लेकर हल्के में आए पर बारिश का नुकसान झेल रहे लोगो की बिना किसी की परेशानी जाने वातानुकूलित बस में बैठ कर क्षेत्रवासियों की समस्या जाने बिना निकल गए जब्कि मुख्यमंत्री को क्षेत्र में बारिश से हुए नुकसान का संज्ञान लेकर लोगो को मदद का आश्वासन देना चाहिए था । ये बात हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव वरुण चौधरी ने कही । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मुलाना क्षेत्र में विकास का जूठा ढिंढोरा पीट रहे है। पिछली बार की जो घोषणाए मुख्यमंत्री ने बराड़ा रैली में ही कि थी उन पर अभी तक कोई काम नही हुआ है। मारकंडा नदी पर अभी तक पूल का काम शुरू नही हो पाया है । अनेको घोषणाए थी , मुख्यमंत्री बराड़ा में आकर भूल गए है और जिन्होंने मुलाना हल्के में विकास करवाए है उन्ही को विकास न करवाने की बात कह रहे है ।
चौधरी ने कहा कि कांग्रेस सरकार में चौधरी फूल चंद मुलाना के समय मुलाना में रिकॉर्ड तोड़ विकास कार्य हुए है ।साहा में कॉलेज,होली आई टी आई, अनेको गांव में समुदायक स्वस्थ केंद्र , पॉवर हॉउस , मुलाना में नई आनाज मंडी , SDM ऑफ़िस बराड़ा , सैंकड़ों की संख्या में स्कूलों का निर्माण व अपग्रेड , हर गांव में विकास हल्के अनेको बड़े प्रोजेक्ट कांग्रेस सरकार की और चौधरी फूल चंद मुलाना की देन है । मुख्यमंत्री बताए की उनकी सरकार में मुलाना हल्के कौन सा बड़ा काम हुआ है। कोई स्कूल बना हो या अपग्रेड हुआ हो , कोई मंडी बनी हो , कोई हॉस्पिटल बना हो , बल्कि हल्के विकास नही उल्टा विनाश जरूर हुआ है। रोडवेज की बसों के रूट क्षेत्र के बहुत से गांव में बंद हुए है बसों का बेड़ा पहले से कम हुआ है और क्षेत्र में नशा,चोरियां,लुटपाट,जरूर बढ़ा है।

चौधरी ने कहा भाजपा पार्टी का काम प्रदेश की जनता विकास करना नही बल्कि उनसे जुठ बोलना है । ये जनता को सिर्फ अपने जूठे वायदों और धर्म के नाम पर उलझाए रखना चाहती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।