संदिगध एटीएम लुटेरों के साथ रात के समय यूपी बार्डर पर सीआईए-टू कैथल पुलिस की मुठभेड़, अंधेरे का फायदा उठाकर संदिगध आरोपी जमना नदी की कच्ची पटरी द्वारा यूपी गांवो की तरफ हुए फरार
June 18th, 2020 | Post by :- | 59 Views

कैथल, लोकहित एक्सप्रैस, (ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी ) । एसपी शशांक कुमार सावन के आदेशानुसार एटीएम लूटेेरों की धरपकड़ के लिए गठित सीआईए-टू पुलिस टीम की 17 जून की रात को यूपी बोर्डर के क्षेत्र में नाकाबंदी दौरान एक पीकअप गाडी में सवार 4 संदिगध व्यक्तियों के साथ मुठभेड़ हुई। जिसके दौरान दोनों तरफ से हुई फायरिंग उपरांत संदिगध आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर मुखय सडक़ी की बजाए नदी की कच्ची पटरी के रास्ते यूपी की तरफ फरार होने में कामयाब हो गए, जिनका सीआईए-टूू पुलिस द्वारा काफी दूर तक पीछा करके तलाश की गई। पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन ने बताया कि सीआईए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार की अगुवाई तहत एएसआई प्रदीप कुमार, एचसी बलकार, एचसी प्रभात, एचसी लखविंद्र, सिपाही सुनील, सिपाही निर्मल, सिपाही जयवीर तथा कांस्टेबल राकेश की टीम दिनांक 12 जून की रात क्योडक एसबीआई एटीएम चोरी तथा माता गेट कैथल स्थित पीएनबी एटीएम चोरी प्रयास मामले की जांच करते हुए एक गुप्त सुचना मिलने उपरांत थाना कुंजपुरा जिला करनाल क्षेत्र के गांव शेरगढ़ टापु नजदीक नाकाबंदी किए हुए थे।

जहां मौके पर गांव शेरगढ टापु का सरपंच तथा कोरोना लॉकडाउन के दृष्टिगत थाना थाना कुंजपुरा पुलिस भी मौजूद थी। रात्री करीब 10 बजे यूपी की तरफ से पुल के रास्ते एक संदिगध पीकअप गाड़ी आई, जिसके केबिन में दो युवक तथा पीछे दो अन्य युवक मौजूद थे, जो सभी मुंह ढ़ापे हुए थे। संदिगध पीकअप सवारों द्वारा सामने पुलिस को देखकर अचानक गाडी बैक करके भागने का प्रयास किया गया, तो उनकी तरफ बढी सीआईए टीम पर आरोपियों द्वारा गोली दागी गई, जिसके जवाब में पुलिस द्वारा भी एक राउंड फायर किया गया। इस मध्य संदिगध पुल के रास्ते वापिस ना जाकर नदी की पटरी-पटरी मोदीपुर गांव की तरफ भागे, जिनका पुलिस द्वारा पीछा किया गया, परंतु अंधेरे व कच्चे रास्ते पर धूल उडने कारण आरोपी फरार हो गए।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सीआईए-टू पुलिस द्वारा गांव जडौली, मुगलमाजरा, महमदपुर तथा नदी जमना में खाली पडे क्षेत्र में संदिगधों की रात भर तलाश की गई। एसपी ने कहा कि कैथल पुलिस की टीमों द्वारा एटीएम लूटेरों को पकडने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे है, जिनमें शिघ्र सफलता मिलने की उम्मीद है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।