बिना थर्मल स्कैनिंग व बिना किसी जरूरत के सभी टीचर्स को स्कूल बुलाकर जान जोखिम में डाल रही सरकार : विजय बंसल
June 18th, 2020 | Post by :- | 221 Views

पिंजौर, (हरपाल सिंह)। एक तरफ तो हरियाणा में हर घण्टे 17 केस आने से प्रदेश दहला हुआ है तो वही शिक्षा विभाग द्वारा सभी टीचर्स को स्कूल में सुबह 8 बजे आकर हाजरी भरकर दोपहर ढाई बजे तक खाली बिठाकर हाजरी भरकर भारी गर्मी में बिना कोई काम करवाए वापिस भेज दिया जाता है,हैरानी की बात तो यह है कि अधिकतर जगह बिना थर्मल स्कैनिंग व उपयुक्त बचाव उपमकर्मो के ही टीचर्स को बुलाया जा रहा है,कही पर भी सेनेटाइजेशन का कोई प्रबंध नही है तो वही राज्य की राजधानी व पंजाब से सटे हुए जिला पंचकूला के स्कूलों में जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा एक आदेश जारी करके सभी टीचर्स को अपनी हाजरी सुनिश्चित करने के लिए सख्त रूप से कहा हुआ है। हरियाणा किसान कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व राज्य सरकार में चेयरमेन रह चुके विजय बंसल एडवोकेट ने इस मामले की जानकारी मिलने पर संज्ञान लेते हुए कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि जब पूरे प्रदेश में सभी स्कूलों को बन्द रखने के आदेश है तो केवलमात्र टीचर्स को बुलाकर बिना किसी काम के खाली बिठाकर क्यो प्रताड़ित किया जा रहा है जबकि सभी अध्यापकों व प्राध्यापकों से तो सरकार पहले ही कोरोना रिलीफ फंड में सहयोग ले चुकी है।

दूसरी ओर सभी टीचर्स अपना फर्ज निभाते हुए सरकार की ओर से बिना किसी सुविधा के भी निरन्तर ऑनलाइन कक्षाएं लेकर शिक्षा को बढ़ावा दे रही जबकि वही राज्य सरकार उन्ही शिक्षकों को बिना थर्मल स्कैनिंग व बिना किसी जरूरत के बुलाकर परेशान कर कोरोना संक्रमण को बढ़ावा देने का कान कर रही है।जानकारी के अनुसार जिला पंचकूला के एक चपड़ासी को तो 14 दिनों के लिए कवारेंटाइन करने के भी आदेश शिक्षा विभाग ने ही दिए है,ऐसे में टीचर्स की सुरक्षा की जिम्मेवारी कौन लेगा।

विजय बंसल के अनुसार यदि आवश्यकता है तो रोटेशन बेसिस पर चंडीगढ़ की तरह हरियाणा के टीचर्स को बुलाया जाए।हालांकि हरियाणा के भी कई जिला शिक्षा अधिकारियों ने आदेश जारी किए है जिसमे झज्जर डीईओ ने भी कहा है कि प्रिंसिपल आवश्यकता के अनुसार टीचर्स को बुलाएंगे जबकि जिला पंचकूला में खासकर सभी टीचर्स को बुलाने के लिए कहा गया है जिसका विजय बंसल ने विरोध किया है।

हालांकि,विजय बंसल ने सारे मामले की जानकारी सूबे के मुख्यमंत्री को भी पत्र के माध्यम से दी है जिसमे उन्होंने मांग की है कि आदेश जारी करके जिला पंचकूला व हरियाणा के तमाम जिलो में केवल आवश्यकता अनुसार ही टीचर्स को बुलाया जाए व प्रॉपर सुविधाए उपलब्ध करवाई जाए तो वही चंडीगढ़ की तरह केवल 25 प्रतिशत टीचर्स को बुलाया जाए। इसके साथ ही थर्मल स्कैनिंग व सेनेटाइजेशन जैसी चीजें उपलब्ध हो और पूरे पूरे दिन तक टीचर्स को बिना काम के बिठाकर न रखा जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।