“सुरक्षा कवच अभियान” के तहत कन्यादान में सुरक्षा कवच (मास्क)|
June 18th, 2020 | Post by :- | 9 Views

विवाह समारोह में  सुरक्षा  कवच अभियान के तहत कन्यादान में  सुरक्षा कवच (मास्क) देकर किया जागरूक – “एक सुरक्षा कवच, एक जीवन बचाओ”

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 18 जून :- कॉविड़-19 महामारी के कारण लॉक डाउन के दौरान श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला (पलवल) के कुलपति एवं हरियाणा स्कील डवलेपमेंट मिशन ने निदेशक राज नेहरू ने हरियाणा सरकार के एक करोड़ मास्क मिशन से जुड़े एवं 20 लाख मास्क बनाने एवं वितरण  का निर्णय लिया ।

श्री विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी (एसवीएसयू) दुधौला (पलवल) हरियाणा और हरियाणा कौशल विकास मिशन पंचकुला के अंतर्गत सुरक्षा कवच अभियान (अभियान SAKHA)  में स्वयंसेवी सेवाओं द्वारा  सुरक्षा कवच (मास्क)  का बनाना  तथा वितरण किया  है । सुरक्षा कवच अभियान (अभियान SAKHA)  के अंतर्गत, डॉ ललित कुमार शर्मा डिप्टी रजिस्ट्रार, डॉ राजेश कुमार सहायक रजिस्ट्रार,  मोरमुकुट शर्मा कैमरामैन डीडी न्यूज़,  महेश भारद्वाज छात्र  (बी.वॉक),  मनोज कुमार छात्र  ( एम.वॉक) एसवीएसयू पलवल ने ग्राम सैलोटी जिला पलवल में दिलेर  सिंह (कैब ड्राइवर) की दो बेटियों  के विवाह समारोह में भाग लिया और समाज को यह  संदेश दिया कि किसी भी परिस्थिति में – “जीवन चलने का नाम है“

विवाह समारोह में सुरक्षा कवच स्वयंसेवकों ने जागरूक किया  है कि कोविड -19  महामारी का कोई इलाज नहीं है, केवल शारीरिक दूरी, हाथ, श्वसन स्वच्छता और मास्क का उपयोग संक्रमण से रोकथाम है एवं बारातियों, रिश्तेदारों, गाँव के निवासियों, मेहमानों को सुरक्षा कवच (मास्क) वितरित किये  है  और कन्यादान के रूप में परिवार को 101-101 सुरक्षा कवच प्रदान किए । वर पक्ष निवासी नोएडा (यूपी)  के बारातियों, रिश्तेदारों, गाँव के निवासियों, मेहमानों ने  श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय  दुधौला (पलवल) की इस पहल के लिए सराहना की ।
सरपंच ग्राम पंचायत सलौटी जिला पलवल ने भी इस पहल के लिए माननीय कुलपति  राज नेहरू और डॉ ललित कुमार शर्मा डिप्टी रजिस्ट्रार श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला (पलवल) को धन्यवाद दिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।