एचईआरसी चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी ने पिंजौर सब स्टेशन का किया निरीक्षण
June 18th, 2020 | Post by :- | 50 Views

पिंजौर, (हरपाल सिंह)। हरियाणा इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (एचईआरसी) के चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी ने गुरुवार को पिंजौर स्थित हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम (एचवीपीएन) के 220 केवी सब स्टेशन का निरीक्षण किया, बिजली वितरण एवं बिजली की सप्लाई के मॉनिटरिंग सिस्टम में और अधिक सुधार लाने के लिए उन्होंने एचवीपीएन और उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। एचईआरसी चेयरमैन ढेसी ने पिंजौर सब स्टेशन को प्राप्त होने वाली बिजली और यहां से आगे सप्लाई होने वाली बिजली के पूरे ऑनलाइन डाटे का अध्ययन किया। उन्होंने एचवीपीएन के अधिकारियों से पूछा कि यहां से जो इंडिपेंडट फीडर निकलते हैं, उनकी रीडिंग कैसे ली जाती है, एचवीपीएन के एक्सईएन मनोज श्रीवास्तव और उनकी टीम ने विस्तार से इसकी जानकारी दी, बताया गया कि ऑटोमेटिक मीटर रीडिंग (एएमआर) से यह रीडिंग ली जाती है। यूएचबीवीएन के एक्सईएन संजीव सिवाच ने आगे बताया कि इस सब स्टेशन से डीएलएफ, एचएमटी, पिंजौर गार्डन, सीआरपीएफ और एग्रीकल्चर पावर के लिए नंदपुर के लिए अलग से फीडर निकलते हैं। चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी ने बिजली वितरण/सप्लाई के मॉनिटरिंग सिस्टम में और अधिक सुधार लाने पर जोर दिया। एचईआरसी के डायरेक्टर (टेक्रिकल) वीरेंद्र सिंह ने भी सब स्टेशन के अंदर लगे मीटरों की रीडिंग से संबंधित कई बिंदुओं पर गहनता से प्रकाश डाला। वहीं, चेयरमैन ढेसी ने पिंजौर क्षेत्र में स्मार्ट मीटर लगाने के बारे में भी जानकारी हासिल की तो एक्सईएन सिवाच ने बताया कि अभी पिंजौर में यह प्रोसेस अभी शुरू नहीं हुआ है, लेकिन पंचकूला में अभी तक 10 हजार स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं। एचईआरसी चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी का यहां पहुंचने पर कालका के एसडीएम राकेश सिंधु, तहसीलदार वीरेंद्र गिल, एक्सईएन सुनील शर्मा ने स्वागत किया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन किया गया। इस मौके पर एचईआरसी के उप निदेशक (मीडिया) प्रदीप मलिक एवं एचवीपीएन तथा यूएचबीवीएन के अधिकारी मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।