सुसाईड नोट लिख कर ली फांसी, सात लोगों को ठहराया जिम्मेवार
September 7th, 2019 | Post by :- | 145 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी ) ।   कस्बा के गुरूदेव मोहल्ला में एक व्यक्ति ने पंखे से फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। यह व्यक्ति गांव नाहरा का रहने वाला है जो कभी कभी गुरूदेव मोहल्ला स्थित अपने घर पर आ जाता था। दोपहर में किसी ने देखा कि एक मकान में पंखे पर एक व्यक्ति झूल रहा है। लोगों ने  बराड़ा पुलिस को फोन  किया तो पुलिस ने  मौके पर पहुंंच कार्रवाई शुरू कर दी। व्यक्ति की पहचान जितेंद्र सिंह निवासी गांव नाहरा के रूप में हुई। शव पंखे से झूल रहा था। जबकि दीवार पर एक पर्चा चिपका हुआ था। जिस पर मरने वाले ने सात व्यक्तियों को अपनी मौत का कारण बताया। जबकि इसमें सुसाईड नोट का जीक्र किया हुआ है। जो पास की कुर्सी पर पड़ा मिला साथ में एक पैन भी मिला। बराड़ा पुलिस ने मौके पर पहुंंच कार्रवाई शुरू कर दी। और फारेंसिंक  टीम को सूचित कर दिया।

जानकारी के अनुसार कस्बा के गांव नाहरा के रहने वाले जितेंद्र सिंह ने गुरूदेव मोहल्लला स्थित मकान में कुर्सी पर चढ़ कर पंखे से फंदा लगा कर गले में डाला जिसके बाद कुर्सी को पैर से साईड में कर फंंदे पर लटक कर जान दे दी। सूचना मिलते ही बराड़ा पुलिस मौके पर पहुंंच गई। पुलिस ने देखा कि जितेंद्र का शव पंखे से लटका हुआ है। फांसी लेने से पहले जितेंद्र ने एक पर्चे पर सात लोगों के नाम लिखे जिन से वह तंग था। हालांकि मौत के कारण सोसाईड नोट में लिखा है। जिसको दीवार पर चिपकाया हुआ था। इस में सात लोगों के नाम लिखे जो इस प्रकार हैं। सोनू सेठी, संजू सेठी, सुरजी सिंह, बाबु पुत्र बुटा सिंह, काला सहगल, नीकु पुत्र मुंशी राम व हरचरण सिंह सेठी शामिल हैं। जिसके बाद अपने घर बेटे के मोबाईल नंबर लिखे। बराड़ा पुलिस ने मौके पर पहुंंच सुसाईड नोट कब्जे में ले लिए।

बराड़ा पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एमएम मेडिकल कालेज मुलाना में रखवा  दिया जिसका कल पोस्टमार्टम होगा। सोसाईड नोट में नाहरा के सरपंच पति सोनू का नाम शामिल है। जानकारी मिली है कि जितेंद्र मछली पालन का काम करता है। जिसने गांव में मछली पालने के लिए तालाब लेना था। लेकिन मौजूदा सरपंच के पति सोनू ने यह तालाब कुरूक्षेत्र के किसी मोती राम को दे दिया।  जिसके बाद जितेंद्र ने मोती राम को तय किए गए पैसे से अधिक पैसे देकर ताबाल ले लिया। ओर मछली पालने का काम करने लगा। अब तालाब में मछलियां मर जाने से जितेंद्र को भारी नुकसान हुआ। जिसके चलते वह उनसे रंजिश रखता था। ओर इसमें नाहरा गांव के मौजूदा सरपंच पति सोनू सहित कई गण्मान्य व्यक्ति शामिल हैं।
जांच अधिकारी थाना बराड़ा एएसआई ओम प्रकाश :- अभी जांच चल रही है। मामला गांव में एक तालाब को लेकर है। जिसमें सरपंच पति ने यह तालाब मोती राम कुरूक्षेत्र को दिया था। लेकिन उससे जितेंद्र ने मंहगे भाव लिया ओर उसमें मछली पालन का काम शुरू कर दिया। उसमें जितेंद्र को नुकसान हुआ है। अभी जांच चल रही है जिसके बाद उचित कार्रवाई होगी।

* “लोकहित एक्सप्रैस” में पत्रकार बनने के लिए सम्पर्क करें।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।