दिल्ली से कालका आई महिला निकली कोरोना पॉजिटिव
June 17th, 2020 | Post by :- | 349 Views

कालका (रोहित शर्मा) । अनलॉक 1.0 के शुरू होते ही कालका-पिंजौर में बड़ी तेजी से कोरोना पॉजीटिव मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है। ताजा मामला शहर के साथ लगते गांव टगरा कली राम में आया है। जहां पर दिल्ली से आई एक 36 वर्षिय महिला कोरोना पॉजीटिव पाई गई है। कालका हॉस्पिटल इंचार्ज डॉ. धर्मेंद्र ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि संक्रमित महिला को पंचकूला में आइसोलेट कर दिया गया है। बताया कि संक्रमित महिला 12 जून को दिल्ली से कालका आई थी। दिल्ली से आने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिला के सैंपल लिए गए थे। जिसकी रिपोर्ट मंगलवार को पॉजीटिव पाई गई।

 बता दें कि मामला सामने आते ही स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासन ने जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिए है। गांव को सैनेटाइज करवा स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमित की संपर्क चेन का पता लगाने की कोशिश भी की जा रही है ताकि संपर्क में आए सभी लोगों के सैंपल लेकर कोविड-19 टैस्ट करवाया जा सके। वहीं मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बाहरी राज्यों से आए करीब 43 लोगों के सैंपल लिए। जानकारी देते हुए एरिया इंसीडेंट कमांडर एन.के. पायल ने बताया कि क्षेत्र को सील करवा दिया गया है।

बाहर से आने वाले लोगों को किया जाए क्वारंटाइन

कालका-पिंजौर में अब तक पाए गए सभी कोरोना पॉजीटिव लोगों की कहीं न कहीं की ट्रैवल हिस्ट्री रही है। क्षेत्रवासियों में संक्रमितों की बढ़ रही संख्या से भय का माहौल बना हुआ है। जिसको लेकर क्षेत्रवासी बाहरी क्षेत्रों से आने वाले लोगों के लिए संस्थागत क्वारंटाइन सैंटर बनाने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि बाहर से आने वाले लोगों को सीधे घरों में जाने की अनुमति देकर आसपास के निवासियों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। जिस प्रकार बाहर से आने वाले लोग कोरोना पॉजीटिव पाए जा रहे हैं, इससे संक्रमण स्थानीय लोगों में भी फैल सकता है। लोग इस स्थिति में अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। वहीं जिस क्षेत्र में कोई कोरोना पॉजीटिव पाया जाता है वहां आसपास के बासिंदों के साथ-साथ प्रशासन की मुश्किलें बढ़ जाती है। लोगों की मांग है कि महाराष्ट्र से चलकर दिल्ली आदि से होते हुए कालका पहुंचने वाली पश्चिम एक्सप्रैस तथा अन्य साधनों से आने वाले यात्रियों को संस्थागत क्वॉरंटाइन किया जाना चाहिए व सैंपल लेकर नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही घर जाने की अनुमति दी जानी चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।