जौनपुर ।मुख्यमंत्री अजय सिंह बिष्ट के इशारे पर सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रही है सरकार -नदीम जावेद
June 16th, 2020 | Post by :- | 288 Views

संवाददाता

फिरोज खान पठान

जौनपुर ।अखिल भारतीय कांग्रेस की राष्ट्रीय महामंत्री एवं उत्तर प्रदेश की प्रभारी श्रीमती प्रियंका गांधी के निर्देश पर आज कांग्रेस पार्टी का डेलिगेशन नदीम जावेद के नेतृत्व में भदेठी गांव पहुंचा ।
दोनों पक्षों के लोगों से मुलाकात के बाद नदीम जावेद ने कहा कि मुसलमानों और दलितों को लड़ा कर बीजेपी सत्ता की राजनीति पर काबिज रहना चाहती है । नदीम जावेद ने कहा कि जौनपुर जनपद कौमी एकजहती का प्रतीक रहा है जौनपुर में कभी भी सांप्रदायिक झगड़े नहीं हुए लेकिन जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है जौनपुर ही नहीं पूरे उत्तर प्रदेश में और पूरे देश में एक दूसरे को लड़ाने का प्रयास भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं के द्वारा किया जाता है, हम इस झगड़े की सीबीआई जांच की मांग करते हैं और जो भी इसमें दोषी है उसके ऊपर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो इसकी मांग करते हैं लेकिन कार्यवाही के नाम पर किसी भी व्यक्ति को बेगुनाह व्यक्ति को यदि फसाया जाएगा तो यह बर्दाश्त नहीं होगा एमएलसी एवं पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा की भदेठी गांव में हुए झगड़ों में साजिश की बू आती है जिस तरह से दोनों पक्षों को लड़ा कर खुद की राजनैतिक रोटी सेंकने की शाजिस भारतीय जनता पार्टी के द्वारा की जा रही है, यह बर्दाश्त नहीं है भविष्य में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी प्रियंका गांधी के नेतृत्व में इस तरह की घटना दोबारा ना हो इसके लिए लड़ाई लड़ेगी डेलिगेशन में प्रदीप नरवाल उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस के अध्यक्ष शाहनवाज आलम बिहार प्रदेश के अध्यक्ष माईनारीटी डिपार्टमेंट मिन्नत रहमानी जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष फैशल तबरेज शहर अध्यक्ष सौरभ शुक्ला यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सत्यवीर सिंह भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिला अध्यक्ष शिखर द्विवेदी यस सी डिपार्टमेंट के प्रदेश सचिव पंकज सोनकर मुफ्ती हाशिम मेहंदी रियाज अहमद नीरज राय सद्दाम सलमानी अदनान खान इश्तियाक अहमद हुजैफा खान वामिक सृजन सिंह धर्मेंद्र निषाद सहित दर्जनों कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।