गांवों में पेयजल की समस्या को विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ओर जलमंत्री श्री बी.डी कल्ला के समक्ष रखा था, जिसकों गंभीरता से लिया गया।
June 16th, 2020 | Post by :- | 86 Views

श्रीगंगानगर,लोकहित एक्सप्रैस(सतनाम मांगट)। गांवों में पेयजल की समस्या को विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ओर जलमंत्री श्री बी.डी कल्ला के समक्ष रखा था, जिसकों गंभीरता से लिया गया है। विधायक श्री गौड़ की अनुशंसा पर श्रीगंगानगर की 3 पंचायतों के लिये 25 लाख रूपये स्वीकृत किये गये है। जिस पर श्रीगंगानगर विधायक राजकुमार गौड़ ने मुख्यमंत्री एवं जल स्वास्थ्य मंत्री का आभार जताया हैं। गर्मी शुरू होते पेयजल पानी की किल्लत अब ज्यादा होने लगी हैं ओर गांव के अंतिम छोर तक पानी बड़ी मुश्किल तक पहुंच रहा है। इस वर्षों पुरानी समस्या को लेकर चक 24 एमएल, 4 जैड व हिरनावाली के ग्रामीण विधायक श्री राजकुमार गौड़ से मिले तो विधायक गौड़ ने मामले को बड़ी सजगता ओर गंभीरता से लिया। जिसके बाद उन्होंने पेयजल विभाग के अधिकारियों से वार्ता की ओर वर्षों पुरानी इस समस्या से निजात दिलाते हुए अंतिम छोर तक हर किसी को स्वच्छ जल मिले ऐसी व्यवस्था करने के लिये निर्देशित किया।
वहीं विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने बताया कि मैंने पेयजल विभाग अधिकारियों के साथ की गई पेयजल समीक्षा पर जल योजना 19 एमएल (बख्तावाली) पर वर्षों पुरानी लगी मोटरों को बदलने, फिल्टरों की रिचार्जिंग का कार्य करवाने के लिये 7.85 लाख की अभिशंषा की । जिससे गांव 19 एमएल एवं 18 एमएल (हिरणावाली) की जनता लाभाविंत होगें। वहीं इसी के साथ ही जल योजना के तहत चक 24 एमएल से 25 एमएल के लिये अलग पाइप लाइन 90 एमएम व्यास 3400 मीटर एचडीपीई पाइप पी.ई 80 पी.एन-06 कुल राशि 11.90 लाख एवं गांव 4 जैड के लिये 90 एमएम व्यास 1500 मीटर एचडीपीई पाइप पी.ई 80 पीएन-06 राशि 5.25 लाख की अभिशंषा की गई है। गांवों में अंतिम छोर तक बैठे हर ग्रामीण को स्वच्छ जल मिलने के कार्य की शुरूआत होने पर सभी गांववासियों में खुशी की लहर है। इसके लिए गांववासी श्रीगंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ का आभार भी जता रहे है। वहीं गांववालों ने बताया कि वे इस समस्या से कई सालों से पीडि़त थे । अब गांव में अधिक समय तक स्वच्छ जल आने तथा अंतिम छोर तक बैठे ग्रामीण को कोई समस्या नहीं होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।