अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम , फिर भी जनता पर बोझ डाल रही सरकार : राव नरेंद्र सिंह
June 16th, 2020 | Post by :- | 200 Views

नांगल चौधरी (वीरेंद्र सिंह जाजम) हरियाणा के पूर्व मंत्री राव नरेंद्र सिंह ने मंगलवार को प्रेस के माध्यम से बताया कि आज लगातार दस दिनों से तेल की कीमतों में बढ़ोतरी की जा रही है । भाजपा सरकार इस महामारी में आमजन को कुछ राहत देने की बजाय उन पर पर बोझ डाल रही है ।

राव नरेंद्र सिंह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत काफी समय से निचले स्तर पर है , जबकि पेट्रोल व डीजल की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है ।
पिछले दस दिनों में हमारे क्षेत्र में पेट्रोल की कीमत में 4.20 रुपये बढ़ाकर 71.17 से 75. 37 रुपये प्रति लीटर कर दिया जबकि डीजल के दामों में 4.77 रुपये बढ़ाकर 63.14 से 67.91 रुपये कर दिया । इस महामारी के दौरान आमजन पूरी तरह से त्रस्त है , उधोग धंधे चौपट है , रोजगार लगातार खत्म हो रहे हैं , किसान बेहाल है , उसके बावजूद भाजपा सरकार द्वारा ये महंगाई की मार क्यों , आखिर ये भाजपा सरकार जनता से किस जन्म का बदला लेना चाहती है ।

राव नरेंद्र सिंह ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि पेट्रोल और डीजल के विभिन्न टैक्स को तर्कसंगत करने के लिए इसे जीएसटी के दायरे में लाना जाना चाहिए । जब केंद्र में भाजपा सरकार आयी तो 2014 में पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क केवल 9 रुपये 20 पैसे थे ।

राव नरेंद्र सिंह ने बर्खास्त पीटीआई की बहाली पर बोलते हुए कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के 8 अप्रैल 2020 के निर्णय के बाद पीटीआई अध्यापकों की नौकरी बर्खास्त करना इन परिवारों पर कुठाराघात करना है ।
उन्होंने कहा कि सरकार का काम नौकरी देना है , नौकरी छीनना नही । चयन प्रक्रिया सम्पूर्ण करने वाली एजन्सी की खामियों की सजा इन पीटीआई अध्यापकों को कतई नही मिलनी चाहिए व जल्द से जल्द इनकी बहाली का रास्ता निकाले सरकार ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।